पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सरदार सरोवर बांध के बैकवाटर से बढ़ी चौड़ाई:हिरण फाल : तीन साल पहले नर्मदा को लांघ जाती थी हिरण, अब पाट चौड़ा

बड़वानी16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जिला मुख्यालय से 25 किमी दूर स्थित हिरण फाल। - Dainik Bhaskar
जिला मुख्यालय से 25 किमी दूर स्थित हिरण फाल।

ये हैं हिरण फाल, तीन साल पहले यहां हिरण नर्मदा को लांघ कर पार कर देती थी। अब यहां लोगों तैरकर भी पार करना मुश्किल है। नर्मदा का पाट चौड़ा हो गया है। इसकी मुख्य वजह है सरदार सरोवर बांध का बैकवाटर। नर्मदा में भले ही जलस्तर कम हो गया है लेकिन यहां अभी भी बैकवाटर जमा है। राजघाट पर नर्मदा ने किनारे छोड़ दिए हैं लेकिन निचले हिस्से में अब भी पर्याप्त पानी है।

हिरण फाल के एक और मोरकट्‌टा, बोरखेड़ी का जंगल है तो दूसरी और धार जिले के डही से लगे क्षेत्र का जंगल है। इन जंगलों में सैकड़ों की संख्या में हिरण है। पहले ये नदी पार कर एक जंगल से दूसरे जंगल चले जाते थे लेकिन अब ऐसा नहीं हो पा रहा है। ग्रामीणों का कहना है कि हिरण फाल एक पर्यटन स्थल होने के साथ ही आस्था का भी केंद्र है। यहां पर कई लोग अपनी मन्नत पूरी करने के लिए स्नान करने के लिए आते हैं। जिला मुख्यालय से 25 किमी दूर है फाल, बोरखेड़ी से 3 किमी पहले अलग से रास्ता

जिला मुख्यालय से 25 किमी दूरी पर हिरण फाल है। यहां पर भवती, बिजासन, मोरकट्‌टा होते हुए पहुंचा जा सकता है। बोरखेड़ी से तीन किमी पहले हिरण फाल है। इसके लिए अलग से रास्ता जाता है।

ये हैं हिरण फाल की कहानी
मोरकट्‌टा सरपंच सीताराम निगवाल ने बताया यहां पर नर्मदा पहाड़ी से 50 मीटर से भी ज्यादा नीचे गिरते है। जलस्तर जब कम होता है तो यहां अलग-अलग 25 से ज्यादा धाराओं में नर्मदा बंट जाती है। एक ये सभी धाराएं पहाड़ी से नीचे गिरती है और धाराएं इतनी संकरी हो जाती है कि इन्हें लांघा जा सकता है। इस स्थान पर हिरण नर्मदा को लांघ कर पार कर देती थी। इसलिए ही इस स्थान को हिरण फाल कहते हैं। अभी यहां पर बैकवाटर फैला है और नर्मदा का पाट 25 मीटर से भी ज्यादा चौड़ा है।

किंवदंती: यहां स्नान करने से मानसिक बीमारी दूर हो जाती है
ग्रामीणों ने बताया कि हिरण फाल वह पवित्र जगह है। जहां पर स्नान करने के ऊपरी बांधाओं के साथ अन्य सभी तरह की बीमारियां दूर हो जाती है। मानसिक रोगी ठीक हो जाते है। जिन महिलाओं को बच्चे नहीं होते, उन्हें संतान प्राप्ति होती है। बुधवार को भी बड़ी संख्या में यहां लोग स्नान करते हुए नजर आए।

खबरें और भी हैं...