पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

धर्म सभा:नरक की यातना से बचने के लिए करें सद्कर्म

बड़वानीएक दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • बावनगजा में आर्यिका विदक्षाश्री माताजी ने कहा
Advertisement
Advertisement

मनुष्य को अपने कर्मों की सजा अवश्य मिलती है। जब कुछ प्राणी सत्ता, पद, प्रतिष्ठा में होता है, तो उसे दुष्कर्मों का ध्यान नहीं रहता। वह अपने ही गुरूर में मस्त रहता है। वह जो कर्म करता है, उसमें सिर्फ अपना स्वार्थ ही निहित रखता है। जिससे से दुर्गतियों में भ्रमण करना पड़ता है। तिर्यंच व नरक के दु:ख सहने पड़ते हैं। इनसे बचने के लिए सद्कर्म करें। सिद्धक्षेत्र बावनगजा में आर्यिका विदक्षाश्री माताजी ने धर्म सभा में समाज के लोगों को कर्म फल का महत्व बताया। सिद्धक्षेत्र में वे चातुर्मास आराधना कर रही है। उन्होंने नरक के दुखों का वर्णन करते हुए कहा कि वहां प्राणी असह्य यातनाओं के साथ भूख, प्यास की वेदना को भी झेलना पड़ता है। पंडित टोडरमलजी कहते है कि वहां भूख इतनी तीव्र होती है कि तीन लोग का अनाज दे देवे, तो वह भी खा जाए। भूख शांत न हो और प्यास भी ऐसी की समुद्र का पूरा पानी पी जाए तो भी प्यास न बुझे। फिर भी उस जीव को न अनाज मिलता है न पानी। माताजी ने कहा मनुष्य बहुत थोड़ी उम्र लेकर आया है। उसे सदैव अपनी अल्प आयु व मृत्यु का ध्यान रखना चाहिए और सदैव सद्कर्म करना चाहिए। कर्म ऐसे हो कि अपने साथ दूसरों के दु:ख, दर्द भी दूर किए जाए।

सच्ची श्रद्धा मनुष्य को परमात्मा की ओर ले जाती है
मुनिश्री ने श्रावकाचार ग्रंथ के स्वाध्याय में कहा कि सच्चा श्रद्धा ही मनुष्य को परमात्मा की ओर ले जाती है। सच्ची श्रद्धा ही सच्ची उपासना है। बिना श्रद्धा के मुक्ति नहीं है। उन्होंने कहा महामंत्र णमोकार में सच्ची आस्था व श्रद्धान से अंजन चोर, अंजन से निरंजन बन गया था। णमोकार महामंत्री के प्रभाव से ही अनंतमति ने अपने शील की रक्षा की थी। धर्म को सच्चे रूप में अंगीकार करके ही मानव जीवन की शोभा को बढ़ा सकते हैं। जिस प्रकार किसान का लक्ष्य अनाज उत्पादन करना होता है। लेकिन भूसा किसान को मुफ्त में मिल जाता है। इसलिए मनुष्य को भी सद्कर्म करना चाहिए।

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज रिश्तेदारों या पड़ोसियों के साथ किसी गंभीर विषय पर चर्चा होगी। आपके द्वारा रखा गया मजबूत पक्ष आपके मान-सम्मान में वृद्धि करेगा। कहीं फंसा हुआ पैसा भी आज मिलने की संभावना है। इसलिए उसे वसूल...

और पढ़ें

Advertisement