डोड बोली अमाव्स्या / डोडयो भाई डोडयो, थारा घर मं दही की हांडी, मही की हांडी...

Dodio bhai dodio, thara ghar ki dahi handi, mahi ki handi ...
X
Dodio bhai dodio, thara ghar ki dahi handi, mahi ki handi ...

  • लोकगीत गाकर बच्चों ने मेंढक बनकर अच्छी बारिश होने की कामना कर मांगा राशन

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

बड़वानी. डोड बोली अमावस्या पर अच्छी बारिश की कामना को लेकर बच्चे मेढक-मेढकी बनते हैं और लोगों के घर-घर जाकर राशन मांगते हैं। लोग मेढक-मेढकी बने बच्चों के ऊपर पानी डालकर अच्छी बारिश होने की कामना करते हैं। बच्चे घर-घर जाकर डोडयो भाई डोडयो, थारा घर मं दही की हांडी, मही की हांडी, दस्सो दे, दस्सो दे गीत गाते हैं। ये निमाड़ी परंपरा कई सालों से चली आ रही है। इस साल भी इस परंपरा को निभाया गया।
जिलामुख्यालय से 7 किमी दूर तलून गांव में बच्चों ने मेढक-मेढकी का रुप रखकर लोगों के घर-घर जाकर भाता (राशन) मांगा। वहीं लोगों ने बच्चों को दाल, चावल, आटा, घी देकर अच्छी बारिश की कामना की। मान्यता है कि ऐसा करने से इंद्रदेव प्रसन्न होते हैं और अच्छी बारिश करते हैं। साथ ही फसलें भी अच्छी होती है। बच्चों ने घर-घर जाकर एकत्रित किए राशन से भोजन तैयार कर एक साथ बैठकर खाया। उन्होंने बताया हर साल डोड बोली अमावस्या पर बच्चे मेढक-मेढकी बनते हैं।
मेढक-मेढकी अधिकतर बच्चे बनते हैं। बच्चों की टोली में कुछ बच्चे पलास के पत्तों से अपने आप को पूरी तरह से ढक लेते हैं। जो घर-घर जाकर भाता मांगते हैं। पलास के पत्ते ओढ़े बच्चे के ऊपर लोग पानी डालकर अच्छी बारिश होने का संदेश देते हैं।
पिछले साल अच्छी बारिश हुई, इस साल भी उम्मीद
पिछले साल जिले में 48 इंच से ज्यादा बारिश हुई थी। जो जिले की सामान्य बारिश 30.41 इंच से 18 इंच ज्यादा थी। वहीं मौसम विभाग भी भविष्यवाणी कर चुका है कि इस साल भी प्रदेश में अच्छी बारिश होगी। बताया जा रहा है की मानसून भी इस बार सही समय पर आएगा। बड़वानी जिले में 20 जून के बाद मानसून आता है। हालांकि इसके पहले ही प्री-मानसून की बारिश शुरू हो जाती है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना