पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

धर्म:31 से शुरू होगा दो दिनी गृहे-गृहे गायत्री यज्ञ

बड़वानी4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिले में 5 हजार से ज्यादा घरों में होगा आयोजन, 100 देशों में होगा यज्ञ

गायत्री परिवार द्वारा उपासना, साधना, आराधना अनुष्ठान का आयोजन 31 मई से कोरोना वायरस व विश्व के कल्याण के लिए किया जा रहा है। 31 मई और 1 जून को जिले में 5 हजार से ज्यादा घरों में गायत्री परिवार के कार्यकर्ता गृहे-गृहे गायत्री यज्ञ करवाएंगे। इसको लेकर तैयारियां शुरू हो गई है। विश्व के 100 देशों में होने वाले इस आयोजन में करोड़ों आहुतियां यज्ञ में समर्पित की जाएंगी।  गायत्री परिवार के युवा प्रकोष्ठ जिला प्रभारी लखन विश्वकर्मा, जिला समन्वयक माधव पाटीदार ने बताया विश्वव्यापी कोरोना संकट से निवारण, सूक्ष्म जगत में छाई विषमताओं के शमन ओर उनके परिशोधन के उद्देश्य से यह आयोजन किया जा रहा है। आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों से निर्मित हवन सामग्री द्वारा आहुतियां डाली जाएगी। गायत्री मंत्र, महामृत्युंजय मंत्र, कृमि नाशक विशेष महामंत्र की आहुतियां डालने का प्रशिक्षण कार्यकर्ताओं को दिया है। 1 जून को गायत्री जयंती व आचार्य श्रीराम शर्मा का महाप्रयाण दिवस है। उन्होंने बताया हवन सामग्री के विकल्प घरों में उपलब्ध वस्तुओं से बनाए जा सकते हैं। जैसे चावल में गुड़/शकर व घी मिलाकर उसकी आहुतियां दी जा सकती है। शुद्ध घी उपलब्ध न हो तो तिल का तेल उपयोग किया जा सकता है। चावल व गुड़ की भी आहुतियां दी जा सकती है। उन्होंने बताया समिधा न मिले, तो गैस पर धातु की छोटी प्लेट (2 या 3 इंच लंबी-चाैड़ी या गोल कोई टुकड़ा) रखकर उस पर बलिवैश्व यज्ञ की तरह आहुतियां दी जा सकती है। उगते हुए सूर्य के सामने बैठकर एक तश्तरी में सामान्य भोजन या चावल आदि स्वाहा के साथ आहुतियां दी जाए। खाद्य पदार्थ पक्षियों को चुगने के लिए रखा जाए।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- अध्यात्म और धर्म-कर्म के प्रति रुचि आपके व्यवहार को और अधिक पॉजिटिव बनाएगी। आपको मीडिया या मार्केटिंग संबंधी कई महत्वपूर्ण जानकारी मिल सकती है, इसलिए किसी भी फोन कॉल को आज नजरअंदाज ना करें। ...

और पढ़ें