पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

धर्मांतरण कराने वाले दोषियों पर करें कार्रवाई:हिन्दू जागरण मंच ने नायब तहसीलदार को राष्ट्रपति के नाम दिया आवेदन

बड़वानी23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

हिन्दू जागरण मंच के सदस्य बुधवार को कलेक्टोरेट पहुंचे। सदस्यों ने जम्मू कश्मीर की घटना के विरोध में नायब तहसीलदार जगदीश बिलगावे को राष्ट्रपति के नाम आवेदन दिया। साथ ही धर्मांतरण और निकाह करवाने वाले दोषियों पर कार्रवाई कर देश में कानून लागू करने की मांग की है।

अध्यक्ष मनीष पाटीदार ने बताया जम्मू कश्मीर में हिंदू सिख बालिकाओं का जबरन धर्मांतरण और निकाह करवाने वाले षड्यंत्रकारी दोषियों पर सख्त कार्रवाई की जाए। जम्मू कश्मीर व पूरे भारत में लव जिहाद के कानून को लागू किया जाए। उन्होंने बताया पिछले दिनों जम्मू कश्मीर में हिंदू सिख बालिकाओं का जबरन धर्म परिवर्तन कर निकाह से मंच व हिंदू समाज आहत है। खास बात यह है कि राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू है।

बावजूद जिहादियों को कोई भय नहीं है। जिहादी मानसिकता के लोग भारतीय संविधान व कानून को ताक में रखकर पूरी घाटी में से हिंदू धर्म के लोगों को डरा-धमका कर इस तरह के कृत्य कर राज्य को हिंदू विहीन करना चाहते हैं। पहले भी इसी तरह के प्रकरणों से ही कश्मीरी पंडितों ने भी परेशान होकर घाटी छोड़ दी थी। अब वे रिफ्यूजी कैंप में जीवन गुजारने को मजबूर हैं।

अब फिर से जिहादी, आतंकी लोग अपने मंसूबे पूरे करने के लिए इस प्रकार के कृत्य कर रहे हैं, ताकि बचे हुए हिंदू समाज के लोग त्रस्त होकर जम्मू कश्मीर छोड़ दें। मंच ने मांग की है कि इस तरह की घटनाओं की पुनरावृत्ति को रोकने के लिए मप्र और उप्र सरकार द्वारा बनाए धर्म स्वतंत्र कानून को भारत में लागू किया जाए। इस दौरान नीरज मुकाती, देवेंद्रसिंह भाटिया, गुरदीपसिंह सैनी, भवनीत सिंह, असमीतसिंह भाटिया, सौरभ सोनी, हर्ष पंवार, कृष्णा राठौड़, पिंटू कन्नौजे मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...