पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नया इंटेकवेल बनेगा, कुएं-बावड़ी की सफाई, ट्यूवबेल चालू करेंगे:नगर पालिका में हुई परिषद की बैठक में शहर के जलसंकट को दूर करने के लिए हुई चर्चा

बड़वानी19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बैठक के दौरान चर्चा करते हुए पार्षद। - Dainik Bhaskar
बैठक के दौरान चर्चा करते हुए पार्षद।

शहर में जलसंकट की समस्या को दूर करने के लिए बुधवार को परिषद सम्मेलन हुआ। इस दौरान निर्णय लिया गया है कि नर्मदा का जलस्तर कम होने पर पुराने इंटेकवेल से पानी दूर चला जाता है। इस कारण नया इंटेकवेल बनाने के लिए प्रस्ताव पास किया गया। वहीं अभी स्थिति से निपटने के लिए नगर पालिका के ट्यूवबेल को चालू करेंगे। साथ ही कुआं, बावड़ियों की सफाई कराई जाएगी।

नगर पालिका कार्यालय में बुधवार को सुबह 11 बजे परिषद सम्मेलन का आयोजन किया गया। इस सम्मेलन में केबल पानी का ही मुद्दा रखा गया था। अलग-अलग पार्षदों ने अपने-अपने सुझाव दिए। किसी ने बताया जलसंकट की स्थिति पिछले कई सालों से बनती जा आ रही है। इसलिए नया इंटेकवेल बनाया जाना चाहिए।

वहीं कई पार्षदों ने सुझाव दिया कि नगर पालिका को अलग-अलग स्थानों पर ट्यूवबेल है। जिन्हें चालू कर जलसंकट की स्थिति से निपटा जा सकता है। वहीं कुछ ने बताया की शहर में कई ऐसे कुआं-बावड़ी है। जिनमें पर्याप्त पानी है। यदि इनकी सफाई कराई जाती है तो भी जलसंकट की स्थिति से निपटा जा सकता है।

अन्य मुद्दों पर भी हुई चर्चा
जलसंकट को लेकर हुई चर्चा के बाद अलग-अलग वार्डों की मौजूदा समस्याओं को लेकर भी चर्चा की गई। पार्षदों ने वार्डों की समस्याओं को बताया। वहीं नगर पालिका सीएमओ कुशलसिंह डोडवे ने आश्वासन दिया है कि उनकी समस्याओं का समाधान किया जाएगा। बैठक के अंत में उन लोगों को श्रद्धांजलि दी गई। जिनकी कोरोना से मौत हुई है।

इंटेकवेल की पुराने मोटरपंप को बदला जाएगा
बैठक के दौरान निर्णय लिया गया है कि पुराने इंटेकवेल में लगे मोटरपंपों को बदलकर नए लगाए जाएंगे। नपाध्यक्ष लक्ष्मण चौहान ने बताया पुराने इंटेकवेल में 90-90 हार्सपावर के दो मोटरपंप लगे हैं। जिन्हें बदलकर एक 150 हार्सपावर का मोटरपंप लगाया जाएगा। वहीं पुराने मोटरपंपों को स्टॉक में रखा जाएगा। ताकि इंमरजेंसी में उपयोग किया जा सके। वहीं अभी टंकियों से टैंकर भरने के लिए प्रतिबंध लगाया गया है। ये टैंकर ट्यूवबेल से भरे जाएंगे।

खबरें और भी हैं...