पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

ये इलाज जानलेवा न हो:होम क्वारंटाइन में रहना था संक्रमित डॉक्टर को, फिर भी घर पर कर रहे थे मरीजों की जांच

बड़वानी11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अस्पताल एंड डे केयर सेंटर के तलघर में बने हाल में इस तरह बेड लगाकर कोरोना संक्रमितों और संदिग्धों को भर्ती कर इलाज दिया जा रहा था। इनसेट में डॉक्टर चौहान। - Dainik Bhaskar
अस्पताल एंड डे केयर सेंटर के तलघर में बने हाल में इस तरह बेड लगाकर कोरोना संक्रमितों और संदिग्धों को भर्ती कर इलाज दिया जा रहा था। इनसेट में डॉक्टर चौहान।
  • एसडीएम ने अस्पताल व घर सील कर सामान जब्त किया

संक्रमित डॉक्टर द्वारा मरीजों का इलाज करने पर एसडीएम ने टीम के साथ मंगलवार देर शाम को उनके घर पर दबिश दी। इस दौरान भी डाॅ. मुकेश चौहान आशाग्राम रोड स्थित घर पर मरीजों की जांच कर रहे थे। डॉ. चौहान आशाग्राम केयर सेंटर के नोडल अधिकारी भी है। 24 अप्रैल को वे संक्रमित हुए थे। 7 मई तक उन्हें होम क्वारंटाइन रहना था।

बावजूद घर पर मरीजों की जांच के अलावा अंजड़ रोड पर ओम सांईराम अस्पताल एंड डे केयर सेंटर का संचालन किया जा रहा था। यहां दो स्टाफ नर्स भी रखी थी। घर व अस्पताल से बड़ी मात्रा में दवाईयां, फाइल कवर, दो डॉक्टर डॉ. नारायण गोस्वामी व डॉ. एश्वर्या गोस्वामी के आई कार्ड, दस्तावेज जब्त किए हैं। जब्त दवाइयों में शराब की बोटलें मिली हैं।

बाजार में मेडिकल स्टोर से गायब दवाईयां डॉक्टर के घर व अस्पताल पर उपलब्ध थी। पूछताछ में डॉक्टर ने ओम सांईराम अस्पताल एंड डे केयर सेंटर में मरीजों का इलाज करने की जानकारी दी। इस पर टीम अस्पताल पहुंची। यहां तलघर में 8 मरीज भर्ती थे।

इसमें से 3 पॉजिटिव और 5 संदिग्ध है। रात 8.30 बजे तक अस्पताल में कार्रवाई जारी थी। अस्पताल में भर्ती मरीजों को आशाग्राम भेजकर सील किया गया। एक साल पहले हुई थी नियुक्ति सीएमएचओ डॉ. अनीता सिंगारे ने बताया राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन से डॉ. चौहान को एक साल पहले संविदा पद पर जिला अस्पताल में नियुक्त किया गया था। एमडी मेडिसिन डॉ. चौहान को आशाग्राम कोविड केयर सेंटर का नोडल अधिकारी बनाया था। लेकिन उन्होंने अंजड़ नाके पर संदीप गुप्ता के भवन में स्वयं का अस्पताल शुरू कर दिया था। यहां रोजाना बड़ी संख्या में मरीज इलाज कराने आ रहे थे।

भवन मालिक व दावा करने वाली महिला के लिए बयान
कार्रवाई के दौरान डॉ. चौहान खुद का अस्पताल होने से इंकार करते रहे। अस्पताल में एक महिला किरण गोस्वामी ने दावा किया कि वह एक अन्य महिला सुषमा गायकवाड़ के साथ अस्पताल चला रही थी। डॉ. चौहान मरीजों की जांच करने आते थे। गायकवाड़ ने दो पत्रकारों को 25 हजार रुपए देने के लिए राशि ली थी। वहीं गायकवाड़ ने एसडीएम को बताया कि अस्पताल से उनका कोई लेना-देना नहीं है। न कोई दस्तावेज उनके नाम पर है।

8 दिन पहले भी दी थी चेतावनी
मंगलवार शाम 6 बजे एसडीएम घनश्याम धनगर, एसडीओपी रूपरेखा यादव, सीएमओ कुशलसिंह डोडवे, टीआई राजेश यादव सहित पुलिस, राजस्व व नपा अमले ने डाॅ. चौहान के घर दबिश दी। 8 दिन पहले भी एसडीएम ने उन्हें चेतावनी दी थी। लेकिन इलाज करना बंद नहीं किया था। वहीं डॉ. चौहान का तर्क था कि मैं भी पाॅजिटिव हूं और मरीज भी पॉजिटिव है। इसलिए इलाज करने दिया जाए।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय कड़ी मेहनत और परीक्षा का है। परंतु फिर भी बदलते परिवेश की वजह से आपने जो कुछ नीतियां बनाई है उनमें सफलता अवश्य मिलेगी। कुछ समय आत्म केंद्रित होकर चिंतन में लगाएं, आपको अपने कई सवालों के उत...

    और पढ़ें