लॉकडाउन / मप्र-गुजरात की सीमा पर बसे ग्राम उमरी से आज दुल्हन लाएगा लोकेंद्र

Lokendra will bring bride from Umri village situated on MP-Gujarat border
X
Lokendra will bring bride from Umri village situated on MP-Gujarat border

  • डूब क्षेत्र राजघाट में शादी, बैंड-बाजा न बिजली

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

बड़वानी. डूब क्षेत्र राजघाट में शनिवार को राजेंद्रसिंह सोलंकी के घर बेटे लोकेंद्र की शादी के लिए मंडप सजाया गया। मप्र व गुजरात की सीमा पर बसे ग्राम उमरी जिला अलीराजपुर से लोकेंद्र रविवार को दुल्हन ब्याहकर लाएगा। दूल्हा, पिता समेत 3 लोगों के साथ चारपहिया वाहन से बरात लेकर जाएगा। शनिवार को राजघाट में रस्में पूरी करने के दौरान बैंड-बाजा बजा न ही कोई धूमधाम देखने को मिली।
5 महीने पहले तक राजघाट में सरदार सरोवर बांध के कारण बैक वाटर जमा था। पानी कम होने के बाद अब फिर से डूब प्रभावित यहां बसने लगे हैं। कुछ महीनों पहले ही लोकेंद्र का परिवार पाटी नाका स्थित टीन शेड से राजघाट में आकर बसा है। डूब के बाद यहां पहली बार शादी होगी। 8 महीने पहले लोकेंद्र की उमरी निवासी नेहा पिता जितेंद्र पंवार से शादी तय हुई थी। रविवार सुबह 6 बजे बरात जाएगी, जो शाम को दुल्हन लेकर लौटेगी। लोकेंद्र के परिवार में माता-पिता व 3 बहनें है। 2 बहन अनुसुईया व माया की शादी गुजरात के छोटा उदयपुर जिले में हुई है लेकिन लॉकडाउन में दोनों बहनें शादी में नहीं आ सकी।
सोलर पैनल से की प्रकाश व्यवस्था
बैक वाटर के दौरान बिजली कंपनी ने राजघाट में बिजली सप्लाय बंद कर दिया था, जो अब भी बंद है। लोकेंद्र ने बताया बिजली के लिए सोलर पैनल लगाई है। वहीं बाइक की बैटरी से रातभर दो इमरजेंसी चलाकर प्रकाश व्यवस्था की है।
न रोड बना, न मिला मुआवजा
डूब प्रभावित लोकेंद्र की 4 एकड़ कृषि भूमि है, जो बारिश में टापू बन जाती है। खेत तक आवाजाही के लिए रोड नहीं बना है। उन्होंने बताया पिता को गुजरात में कृषि भूमि मिली थी, जो लौटा दी लेकिन अभी तक सरकार ने कोई मुआवजा नहीं दिया है। वहीं खेत में टींडे, गिलकी लगाई थी लेकिन मंडियां बंद होने से नुकसान हुआ।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना