पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

वाल्मीकि आश्रम में बनेगी नर्सरी:गिलाेय के 10 हजार पौधों की बनेगी नर्सरी, सांसदों ने किया भूमिपूजन

बड़वानी17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
गिलोय नर्सरी के लिए भूमिपूजन करते जनप्रतििनधि। - Dainik Bhaskar
गिलोय नर्सरी के लिए भूमिपूजन करते जनप्रतििनधि।
  • वनवासी कल्याण परिषद द्वारा वाल्मीकि आश्रम में बनेगी नर्सरी

वनवासी कल्याण परिषद द्वारा रविवार को वाल्मीकि वनवासी आश्रम में हवन कर नर्सरी का भूमि पूजन किया गया। नर्सरी में गिलोय के पौधे तैयार किए जाएंगे। जिले में कोविड-19 के नियमों का पालन करते हुए अभियान की आगामी योजना के अनुसार जनजाति क्षेत्र के लगभग सभी समिति युक्त व संपर्क ग्रामों में 10000 परिवारों में औषधि पौधों का वितरण गांव-गांव में जाकर किया जाएगा। परिषद के सदस्यों ने बताया गिलोय, हड़जोड़, तुलसी, व ग्राम देव स्थानों पर पंचवटी जिसमें पीपल, आंवला, वट, बेल, अशोक के पौधे देकर लगवाएंगे। इससे हमारे जिले में काेराेना की तीसरी लहर ना आ पाए और हमारा गांव हरा-भरा रहे। साथ ही गांव में आक्सीजन की कमी को पूरा करने, पर्यावरण शुद्धि के लिए उत्सव के साथ पौधारोपण किया जाएगा।

आगामी दिनों में जिले में 10000 से अधिक पौधे लगाकर पेड़ बनाएंगे। इसको लेकर रविवार आश्रम में प्रांत संगठन मंत्री लक्ष्मीनारायण बामने, सांसद गजेंद्रसिंह पटेल व राज्यसभा सांसद ने भूमिपूजन किया। परिषद द्वारा आगामी दिनों में 10 हजार गिलोय के पौधे तैयार कर जिलेवासियों को निःशुल्क भेंट किए जाएंगे। मध्यप्रदेश में वनवासी कल्याण परिषद द्वारा 2 लाख गिलोय के पौधे तैयार कर जनता को वितरित किए जाएंगे।

खबरें और भी हैं...