पोर्टल क्रेश:ओटीपी आने में लगा 180 सेकंड से ज्यादा समय, बिना पंजीयन के लौटे युवा

बड़वानी6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पत्नी का पंजीयन कराने आए दीपक, पोर्टल शुरू न होने से वापस लौटे। - Dainik Bhaskar
पत्नी का पंजीयन कराने आए दीपक, पोर्टल शुरू न होने से वापस लौटे।
  • 18+ वैक्सीनेशन- दोपहर 4 बजे कोविन पोर्टल पर शुरू होना थे पंजीयन, देर शाम तक एक भी नहीं हुए

कोरोना वैक्सीनेशन के तीसरे चरण में 1 मई से 18 से 40 वर्ष के लोगों का टीकाकरण शुरू होना है। बुधवार को दोपहर 4 बजे से पंजीयन शुरू होना थे। लेकिन पोर्टल पर पंजीयन शुरू होने के साथ ही कोविन पोर्टल क्रेश हो गया। कर्मचारियों ने बताया पोर्टल क्रेश होने के कारण ओटीपी आने में 180 सेकंड का समय लग रहा था।

जबकि 180 सेकंड में ही ओटीपी दर्ज भी करना है। लेकिन इन दोनों समस्याओं के कारण युवाओं को बिना पंजीयन कराए लौटना पड़ा। पंजीयन को लेकर सुबह से युवा इंतजार कर रहे थे। दोपहर 4 बजे पोर्टल पर पंजीयन शुरू होते ही दबाव बढ़ गया।

इसके चलते कोविन पोर्टल क्रेश हो गया। कर्मचारी शरीफ खान, हुसैन खान व सोहेल खान ने बताया पोर्टल पर ओटीपी देरी से आ रहा है। वहीं 18 साल वालों के पंजीयन के लिए पोर्टल अभी शुरू नहीं हुआ है।
सुबह 9 बजे से आने लगे थे लोग
अफसरों ने बुधवार सुबह 9 बजे से पीजी कॉलेज व नगरपालिका में पंजीयन शुरू होना बताया था। इसके चलते पीजी कॉलेज में बनाए टीकाकरण केंद्र पर सुबह 9 बजे से लोग पंजीयन कराने के लिए आने लगे। वहीं सुबह 11 बजे से नपा में लोग पहुंचने लगे थे। लेकिन अचानक समय बदलने से भी लोग परेशान होते रहे।

कोविन पोर्टल पर क्रिएट नहीं किया शेड्यूल
कोविन पोर्टल पर शेड्यूल व टीकाकरण केंद्र क्रिएट नहीं होने से भी पंजीयन नहीं हो सके। जानकारी अनुसार शेड्यूल क्रिएट नहीं होने से युवाओं को टीकाकरण के लिए अपॉइंटमेंट जारी नहीं हो सके।

वहीं पोर्टल पर बड़वानी में सिर्फ एक केंद्र पीजी कॉलेज का दर्शाया जा रहा है। लेकिन यहां अभी 45 साल व इससे अधिक आयु यानी 1976 के पहले जन्म लिए लोगों के ही टीकाकरण हो रहे हैं। टीकाकरण केंद्र क्रिएट न होने से 1976 के बाद के लोगों के पंजीयन नहीं हो सके।

नहीं हुआ पंजीयन, दो बार चक्कर लगाए
शहर निवासी दीपक शर्मा ने बुधवार सुबह 9 बजे कॉलेज के केंद्र पर वैक्सीन का पहला डोज लगवाया। वहीं उन्होंने पत्नी नीतू शर्मा का पंजीयन कराने के लिए कर्मचारियों को आधार कार्ड दिया। लेकिन पोर्टल पर 1976 से पहले के ही पंजीयन हो रहे थे। यानी 18 साल से अधिक आयु वालों के पंजीयन के लिए पोर्टल शुरू नहीं हुआ था।

दिनभर में यहां 20 से ज्यादा लोग पंजीयन के लिए पूछताछ करने पहुंचे थे। बावजूद निराश लौटे। शहर के युवा नीरज वर्मा ने बताया वे सुबह 11 बजे नपा स्थित केंद्र पर आए थे। समय बदलने की जानकारी मिली।

दोपहर 4 बजे दोबारा यहां पहुंचे। लेकिन ओटीपी दर्ज करने का ऑप्शन नहीं आने से बिना पंजीयन कराए लौटना पड़ा। इसी तरह दिलीप मालवीया बेटे पियूष मालवीया का पंजीयन कराने आए थे। वे भी परेशान होते रहे।

बॉटनी विभाग में शुरू किया पंजीयन केंद्र
पीजी कॉलेज के सभागृह में 45 साल व इससे अधिक आयु के लोगों का टीकाकरण किया जा रहा है। इसके चलते यहां 18 से 40 साल के लोगों का पंजीयन करना संभव नहीं था। इस कारण दोपहर में बॉटनी विभाग में पंजीयन की व्यवस्था की गई, ताकि एक ही स्थान पर लोगों की भीड़ न लगे।

प्राचार्य डॉ. एनएल गुप्ता व डॉ. आरएन शुक्ल ने बताया पंजीयन कक्ष के बाहर कर्मचारी तैनात किया जाएगा, जो युवा का तापमान की जांच कर 2-2 युवाओं को प्रवेश देगा। सोशल डिस्टेंस के लिए परिसर में गोले बनवाए हैं।

खबरें और भी हैं...