पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कालाबाजारी:रेमडेसिविर इंजेक्शन बेचते निजी अस्पताल का फार्मासिस्ट और 1 सहयोगी गिरफ्तार

बड़वानी9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • आशाग्राम रोड पर ग्राहक बन पहुंचा जवान, 25 हजार रुपए में सौदा तय होते ही पकड़ा

जिले में रेमडेसिविर की कालाबाजारी का पहला मामला सामने आया है। आशाग्राम रोड स्थित गुरुपद अस्पताल का फार्मासिस्ट राहुल बड़गूजर सहयोगी विनय रजक निवासी राजपुर के जरिए रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी कर रहा था। सूचना मिलने पर पुलिस ने एक जवान को सिविल ड्रेस में ग्राहक बनाकर पहुुंचाया। एक इंजेक्शन का सौदा 25 हजार रुपए में तय हुआ। इसी दौरान सिविल ड्रेस में अन्य जवान भी पहुंच गए और दोनों आरोपियों गिरफ्तार किया। आरोपियों के कब्जे से एक रेमडेसिविर इंजेक्शन और 25 हजार रुपए जब्त किए हैं।

कोतवाली प्रभारी राजेश यादव ने बताया एसपी निमिष अग्रवाल को रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी होने की सूचना मिली थी। एसपी के निर्देश पर कोतवाली की टीम ने आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए प्लान तैयार किया और एक पुलिस जवान को इंजेक्शन खरीदने के लिए रविवार की रात करीब 10 बजे गुरुपद अस्पताल के पास भेजा गया। यहां पर फार्मासिस्ट का सहयोग मिला। कुछ देर बात करने पर एक इंजेक्शन का सौदा 25 हजार रुपए में तय हुआ। जवान ने इंजेक्शन हाथ में लिया ही था की मौके पर अन्य जवान पहुंच गए और सहयोगी को गिरफ्तार किया। पूछताछ करने पर बताया की फार्मासिस्ट ने इंजेक्शन दिया था। पुलिस सहयोगी को लेकर गुरुपद अस्पताल के भीतर पहुंची। यहां पर फार्मासिस्ट को गिरफ्तार किया और थाने लेकर आए। दोनों आरोपियों से पूछताछ की जा रही है।

दोनों आरोपी एक दिन की रिमांड पर
कोतवाली प्रभारी ने बताया दोनों आरोपियों को 1 दिन पुलिस रिमांड पर लिया है। इनसे पुलिस पता लगाने की कोशिश कर रही है कि अब तक कितने रेमडेसिविर इंजेक्शनों की कालाबाजारी की और इनके साथ और कौन-कौन काम करता है।

मरीज को लगाने के लिए मिला, जिसे बेच रहे थे
पूछताछ में फार्मासिस्ट ने बताया गुरुपद अस्पताल में मरीज अखिलेश सोनी भर्ती था। इसे लगाने कलेक्टर कार्यालय से दो रेमडेसिविर इंजेक्शन मिले थे। एक इंजेक्शन 29 अप्रैल को लगा दिया था और उसकी गंभीर स्थिति बताकर जिला अस्पताल स्थित ट्रामा सेंटर रैफर किया। इस कारण दूसरा इंजेक्शन नहीं लगा। जिसे फार्मासिस्ट बेच रहा था। जबकि इस इंजेक्शन को वापस कलेक्टोरेट में जमा कराना था। ये फार्मासिस्ट मेडिकल पर रहता है व इंजेक्शनों का आवंटन इसके ही पास आता है।

रेमडेसिविर व सिलेंडरों का स्टॉक किया तो कार्रवाई
कोतवाली प्रभारी ने बताया की कुछ लोग घरों में रेमडेसिविर इंजेक्शन व ऑक्सीजन सिलेंडर रखे हुए है। जो कालाबाजारी कर कर रहे हैं। ऐसे लोगों की जानकारी जुटाई जा रही है। साथ ही पुलिस जवान गली-मोहल्लों में निगरानी कर रहे है। इनकी धरपकड़ के लिए टीम गठित की गई है। जो अब छापामार कार्रवाई करेगी।

निर्धारित मूल्य से ज्यादा पर दवाएं बेचने पर कार्रवाई
कलेक्टर ने सोमवार को आदेश जारी किया है। अब यदि मेडिकल स्टोर पर निर्धारित मूल्य से ज्यादा पर दवाओं का विक्रय किया जाता है तो संबंधित के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। मेडिकल स्टोर वाले अधिक मूल्य पर दवाओं का विक्रय न करें। इसको लेकर कलेक्टर ने सोमवार को मेडिकल एसोसिएशन के पदाधिकारियों से चर्चा की।

जानिए... अब आगे होगी ये जांच
प्रारंभिक जांच में पता चला है कि गुरुपद अस्पताल में भर्ती मरीजों को लगाने के लिए चार दिन 14 रेमडेसिविर इंजेक्शन दिए गए। अब पुलिस जांच कर रही है कि जिन मरीजों के नाम पर इंजेक्शन दिए गए थे। उन्हें लगाए भी गए हैं कि ये इंजेक्शन भी बेच दिए।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आज की स्थिति कुछ अनुकूल रहेगी। संतान से संबंधित कोई शुभ सूचना मिलने से मन प्रसन्न रहेगा। धार्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करने से मानसिक शांति भी बनी रहेगी। नेगेटिव- धन संबंधी किसी भी प्रक...

    और पढ़ें