पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

पर्यावरण:एक साल बाद लगाएंगे पौधे, अभी गड्‌ढे खोदे ताकि बैक्टीरिया मर जाए

बड़वानी3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • वन विभाग ने जगह-जगह पहाड़ियों पर खुदवाए गड्‌ढे, चार लाख पौधे लगाने का लक्ष्य, इस साल तीन लाख लगाए

जिले की पहाड़ियों को हराभरा करने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं। वन विभाग ने जिले की कुछ ऐसी ही पहाड़ियों का चयन कर उन पर लाखों की संख्या में गड्‌ढे खुदवाए है। इनमें एक साल बाद पौधारोपण किया जाएगा। वन विभाग डीएफओ डॉ. अनुपम सहाय का कहना है एक साल पहले गड्‌ढे इसलिए खोदे जाते हैं, ताकि जमीन के भीतर रहने वाले बैक्टीरिया मर जाए और पौधा लगाने के बाद फिर उसे वह क्षति न पहुंचा पाए। उन्होंने बताया जिले में इस साल 3लाख पौधे लगाए गए है। वहीं 2021 में चार लाख पौधे लगाने का लक्ष्य रखा गया है। वन विभाग का प्रयास है कि जिले का वन क्षेत्र पहले की तरह दोबारा से हराभरा हो। इसलिए लगातार पौधारोपण कर वन क्षेत्र को हराभरा करने का प्रयास किया जा रहा है। वन विभाग ने हालही में जुलवानिया के पास स्थित रुझानी की पहाड़ी पर 20 हजार गड्‌ढे खुदवाए है। ऐसे ही जिले के अन्य क्षेत्रों की पहाड़ियों पर भी खुदवाए गए है।

^मिट्‌टी के भीतर ऐसे बैक्टीरिया रहते हैं, जो पौधों को क्षति पहुंचाते हैं। ये बिना ऑक्सीजन वाले क्षेत्र में रहना पसंद करते हैं। गड्‌ढा खोद देते हैं तो उन्हें ऑक्सीजन मिल जाता है और वह मर जाते हैं। पानी के साथ धूप मिलने से गड्‌ढे के आसपास की जमीन नरम हो जाती है। पौधे के जीवित रहने की संभावना ज्यादा रहती है। डॉ. वीणा सत्य, वनस्पति विशेषज्ञ, पीजी कॉलेज

1 साल पहले गड्‌ढा खोदने से ये फायदा
डीएफओ ने बताया पौधारोपण करने के लिए करीब दो फीट चौड़े और इतने ही गहरे गड्‌ढे खुदवाए गए है। इन गड्‌ढों में बारिश का पानी जमा होने से आसपास की जमीन नरम हो जाती है और जलस्तर भी बढ़ता है। एक साल बाद पौधा लगाने के बाद उसकी जड़ों को नमी भी मिलती है और जड़ों का विस्तार भी ठीक से हो पाता है।
नॉलेज : 70 प्रतिशत पौधे जीवित तो पौधारोपण सफल
वन विभाग अधिकारियों ने बताया पौधारोपण करने के बाद यदि 70 फीसदी पौधे भी जीवित रहे तो प्रयास सफल माना जाता है। 20 से 30 फीसदी पानी की कमी या अन्य किसी कारण से मर जाते हैं।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- लाभदायक समय है। किसी भी कार्य तथा मेहनत का पूरा-पूरा फल मिलेगा। फोन कॉल के माध्यम से कोई महत्वपूर्ण सूचना मिलने की संभावना है। मार्केटिंग व मीडिया से संबंधित कार्यों पर ही अपना पूरा ध्यान कें...

और पढ़ें