पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

विरोध :सहकारी संस्था में कमी, बाजार में ज्यादा दाम में मिल रहा यूरिया, जबरन दे रहे दूसरी खाद

बलवाड़ी15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • वरला तहसील के किसानों ने लगाया आरोप, कहा- नहीं दे रहे पक्का बिल
Advertisement
Advertisement

वरला, बलवाड़ी, धवली क्षेत्र के किसानों ने बाजार में अधिक दाम में यूरिया खाद मिलने और उसके साथ जबरन दूसरी खाद भी लेने का दबाव बनाने का आरोप लगाया है। किसानों के अनुसार आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था में खाद की कमी कमी का फायदा विक्रेता उठा रहे हैं। किसानों ने जरुरत अधिक दाम लेने वालों पर कार्रवाई की मांग की। किसानों को खरीफ के सीजन में सबसे पहले यूरिया खाद की जरुरत होती है लेकिन खाद के लिए किसान भटक रहा है। आदिम जाति सेवा सहकारी संस्थाओं में खाद की किल्लत बनी हुई है। वहीं दूसरी और खाद विक्रेता शासकीय मूल्य से अधिक यूरिया खाद का पैसा वसूलने की शिकायतें आ रही है। सहकारी संस्थाओं में यूरिया की कीमत 266 रुपए प्रति 50 किलो है। वहीं बाजार में 400 से 450 रुपए प्रति बैग मिल रहा है। इसके साथ में किसान को डीएपी, पोटाश, सुपर फास्फेट खाद भी जबरन दिया जा रहा है। बलवाड़ी, धवली एवं वरला में भी किसानों के साथ खाद विक्रेता द्वारा मनमाने दाम वसूले जा रहे हैं। संस्थाओं द्वारा खाद बुलाने के लिए रिलीज ऑर्डर दिया जा रहा है लेकिन ऊपर से ही खास कम आ रहा है। संस्था किसानों को धीरे-धीरे पूर्ति कर रही है।

पर्याप्त खाद उपलब्ध कराए प्रशासन
हिंगवा के किसान रेबा ने बताया बाजार में यूरिया के अधिक दाम लिए जा रहे हैं। उन्होंने 430 में खाद खरीदा। विक्रेता से दाम कम करने की मांग की लेकिन वो नहीं माना। इसी तरह धरमसिंग, डालिया, दूधखेड़ा एवं रोजानीमाल सभी किसानों ने खाद की कमी को लेकर जिला प्रशासन से मांग की पर्याप्त खाद उपलब्ध कराया जाए। खाद विक्रेताओं की मनमानी पर सख्त कार्रवाई की जाए। खाद बेचने वाले दुकानदार यूरिया एवं अन्य खाद का बिल कच्चा बिल दिया जा रहा है। पक्का बिल मांगने पर खाद देने का मना कर देते हैं।
 संस्था में 1300 किसान हैं। प्रतिवर्ष करीब खरीफ के सीजन में 260 टन यूरिया किसान सदस्यों को वितरित किया जाता है। इस साल खरीफ के सीजन में 150 टन यूरिया का वितरण किया गया। 66 टन यूरिया की मांग की गई है। जैसे-जैसे किसानों की मांग आती है रिलीज ऑर्डर बनाकर भेजते हैं। इस साल यूरिया खाद की कमी है। जैसे ही खाद प्राप्त होगी वितरण करेंगे। 
गणेश अवस्थी, प्रबंधक, आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था बलवाड़ी

नहीं दिया जा रहा पक्का बिल
किसानों को खाद-बीज का पक्का बिल नहीं दिया जाता है। लाखों रुपए का खाद कच्चे बिल के साथ बेचा जा रहा है। इस मजबूरी का फायदा खाद विक्रेता मनमाने ढंग से ले रहे हैं। वरला, बलवाड़ी, हिंगवा, दूधखेड़ा, रोजानीमाल, मोहनपड़ावा, केरमला, चिखली और आसपास के ग्रामीण अंचलों के हजारों किसान खाद के लिए परेशान हैं। किसानों ने कार्रवाई की मांग की है।

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज का दिन पारिवारिक और आर्थिक दोनों दृष्टि से शुभ फलदायी है। व्यक्तिगत कार्यों में सफलता मिलने से मानसिक शांति का अनुभव करेंगे। कठिन से कठिन कार्य को आप अपने दृढ़ निश्चय से पूरा करने की क्षमत...

और पढ़ें

Advertisement