पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बेकाबू कोरोना, लाचार सिस्टम:रेमडेसिविर का स्टॉक खत्म, इंदौर से परिजन ला रहे इंजेक्शन, समय पर नहीं लगा तो फेफड़ों को नुकसान

बड़वानी6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिला मुख्यालय पर 4 स्थानों पर 97 मरीज भर्ती, 16 पलंग वार्ड को बनाया 40 बेड का

कोरोना लगातार बढ़ते जा रहा है। मरीजों की सुविधा के लिए गुरुवार काे दोपहर में परिजन ट्रामा सेंटर के बाहर बैठे मिले। बाजार में मेडिकल स्टोर पर रेमडेसिविर इंजेक्शन का स्टॉक खत्म हो गया है। ट्रामा सेंटर के बाहर बैठे ग्रामीण ने बताया उनकी भाभी भर्ती है। रेमडेसिविर इंजेक्शन नहीं मिल रहा है। इसके चलते भाभी के भाई को इंजेक्शन लेने के लिए इंदौर भेजा है। एक अन्य युवक ने बताया अभी इंजेक्शन के लिए नहीं बोला है। मां की सेहत में सुधार हो रहा है। इसी तरह एक अन्य व्यक्ति ने बताया आशाग्राम केयर सेंटर में उनके सास-ससुर भर्ती हैं। पहले 1150 रुपए में इंदौर से इंजेक्शन बुलवाया था। इसके बाद 6 हजार रुपए लगे।

उन्होंने बताया गुरुवार फिर एक व्यक्ति को इंजेक्शन लेने भेजा है। रेमडेसिविर की मांग बढ़ने से मेडिकल स्टोर संचालक मनमाने दाम वसूल रहे हैं। लेकिन इंदौर में भी मेडिकल स्टोर पर कतार लग रही है। मरीजों की संख्या बढ़ने से प्रशासन केयर सेंटर की संख्या बढ़ाने में लगा है, ताकि लोगों को इलाज दिया जा सके। गुरुवार कोरोना आईसीयू में 10 मरीज, ट्रामा सेंटर में 30, एनएमटीसी में 30 और आशाग्राम केयर सेंटर में 27 मरीज भर्ती हैं। आशाग्राम में 3 एंबुलेंस थी। एक मरीज एंबुलेंस में बैठा था। मरीजों को भर्ती करने की प्रक्रिया चल रही थी। वहीं परिजन ओपीडी में पर्ची बनवाते नजर आए। शाम को सीएमएचओ ने 16 पलंग वार्ड में 40 बेड के केयर सेंटर बनवाने की व्यवस्था की है। सीएमएचओ डॉ. अनीता सिंगारे ने बताया मरीजों की संख्या बढ़ने पर व्यवस्था न बिगड़े।

3 दिन से नहीं मिला रेमडेसिविर डोज
सेंधवा | अस्पताल संचालक के अनुसार मरीजों के लिए 20 बेड हैं। इनमें से गुरुवार दोपहर तक मात्र 4 खाली थे। 16 मरीजों को 3 दिन से रेमडेसिविर का डोज नहीं लगा पाए। सेंधवा एसडीएम, जिला ड्रग इंस्पेक्टर और सीएमएचओ को इसकी जानकारी दी है। साथ ही इंजेक्शन की उपलब्धता की मांग की गई। ऑक्सीजन फिलहाल उपलब्ध है लेकिन दाम काफी बढ़ गए हैं। 5 दिन पहले सिलेंडर 450 रुपए में मिल रहा था। अब उसकी कीमत 650 रुपए हो गई है।

60 ऑक्सीजन सिलेंडर का स्टॉक

आरएमओ डाॅ. नितिन पटेल ने बताया वर्तमान में 50 से 60 जंबो ऑक्सीजन सिलेंडर की खपत हो रही है। जबकि पहले 15 से 20 सिलेंडर लग रहे थे। अभी 60 सिलेंडर स्टॉक में हैं। सप्लाय रोज आ रही है। ऑक्सीजन की कमी नहीं है।

बड़े शहरों में बढ़ी मांग इसलिए गुजरात से नहीं हो रही आपूर्ति

सीधी बात गीतम पठोदिया,
ड्रग इंस्पेक्टर

रेमडेसिविर इंजेक्शन की सप्लाय क्यों नहीं हो रही है? {रेमडेसिविर बुलाने की पूरी कोशिश कर रही हूं। इंदौर के अफसरों से भी बात की है। एक दो दिन में आने की संभावना है। ज्यादा स्टॉक आने के आसार कम है। अभी इंदौर में स्थिति बहुत खराब है। रेमडेसिविर की पर्याप्त सप्लाय क्यों नहीं हो पा रही है? {एक मरीज को 5 से 6 डोज लगते हैं। गुजरात की कंपनी पूरे देश में वायल सप्लाय करती थी। लेकिन अब वहीं पर खपत हो रही है। मप्र की एक कंपनी के 4 से 5 प्लांट है। लेकिन दो से तीन महीने से एक ही प्लांट पर उत्पादन चालू रखा। उत्पादन कम होने से आपूर्ति नहीं हो रही है। बड़े शहरों में मांग बढ़ गई है। इस कारण सप्लाय नहीं हो पा रही है। रेमडेसिविर की कालाबाजारी व मनमाने दाम वसूले जा रहे है। क्या ये सही है? {अस्पतालों के मेडिकल स्टोर का निरीक्षण कर कालाबाजारी की हकीकत पता की। सिर्फ एक अस्पताल में 15 वायल मिले। बाकी जगह नहीं मिले। अलग-अलग कंपनियों के वायल की एमआरपी अलग-अलग है। मनमाने दाम नहीं लिए जा रहे हैं। फिर भी ऐसी कोई शिकायत आती है, तो जांच करेंगे।

समय पर न लगे इंजेक्शन, तो हो सकता है नुकसान रेमडेसिविर इंजेक्शन एंटी वायरल है। जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. मनोज खन्ना ने बताया इस इंजेक्शन से कोविड वायरस का असर कम होता है। इंजेक्शन लगने में देरी होने पर शरीर को नुकसान हो सकता है। लेकिन यह मरीज की स्थिति पर निर्भर करता है, कि उसकी रोक प्रतिरोधक क्षमता कितनी है, उसके अनुसार वह फेफड़ों व शरीर को नुकसान पहुंच सकता है।

जानें, कहां कितने बेड की व्यवस्था
स्थान बेड भर्ती मरीज

आईसीयू 10 10
ट्रामा सेंटर 30 30
एनएमटीसी 30 30
आशाग्राम 200 27
जामली 150 00
आईटीआई खेतिया 100 00

कालाबाजारी : वेल्डिंग दुकान से जब्त किए 18 ऑक्सीजन सिलेंडर
एसडीएम ने ऑक्सीजन गैस सिलेंडर की कालाबाजारी के आरोप में वेल्डिंग दुकान से गुरुवार 18 सिलेंडर जब्त किए हैं। ऑक्सीजन सिलेंडर का उपयोग सिर्फ सरकारी व निजी अस्पताल को छोड़कर दूसरे काम में नहीं होने के आदेश जारी हो चुके हैं। इसके मद्देनजर एसडीएम घनश्याम धनगर ने नेशनल वेल्डिंग व नेशनल बैटरी वर्क्स सुख विलास कॉलोनी पर छापा मारा। जब्त सिलेंडर को सीएमएचओ के सुपुर्द किए। एसडीएम ने बताया गैस एजेंसी द्वारा अस्पतालों को ऑक्सीजन गैस सिलेंडर ना देकर अन्य कामों के लिए बाजार मूल्य से दो से 3 गुना दाम पर बेचने की शिकायत मिल रही थी।

कोरोना : 104 नए मरीज मिले
24 घंटे में 104 नए मरीज मिले हैं। बुधवार रात को 379 लोगाें की निगेटिव व 104 की पॉजिटिव रिपोर्ट आई है। 623 लोगों का इलाज जारी है। अब तक 32 लोगों की मौत हुई है। सीएमएचओ ने बताया गुरुवार को 57 मरीजों को इलाज के बाद अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- ग्रह स्थिति अनुकूल है। मित्रों का साथ और सहयोग आपकी हिम्मत और हौसले को और अधिक बढ़ाएगा। आप अपनी किसी कमजोरी पर भी काबू पाने में सक्षम रहेंगे। बातचीत के माध्यम से आप अपना काम भी निकलवा लेंगे। ...

    और पढ़ें