पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

उपस्वास्थ्य केंद्र के नवीनीकरण का काम पूरा:ग्राम सजवानी खम में 6.50 लाख रुपए की लागत से भवन का किया नवीनीकरण,1 सप्ताह बाद होगा शिफ्ट

बड़वानी23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
नवीनीकरण होने के बाद तैयार हुआ उपस्वास्थ्य केंद्र। - Dainik Bhaskar
नवीनीकरण होने के बाद तैयार हुआ उपस्वास्थ्य केंद्र।

जिला मुख्यालय से 12 किमी दूर ग्राम सजवानी खम में उपस्वास्थ्य केंद्र का नवीनीकरण का कार्य 95 फीसदी पूरा हो गया है। बिजली फिटिंग व साफ-सफाई का काम एक सप्ताह में पूरा होेने पर लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मिल सकेगी। नए भवन में लोगों की विभिन्न जांचें भी हाे सकेगी। स्वास्थ्य विभाग ने यहां सीएचओ के पद पर नियुक्ति भी की है। अस्पताल का संचालन होने से सजवानी खम व धाबाबावड़ी के ग्रामीणों को इलाज कराने के लिए बड़वानी नहीं जाना पड़ेगा। आने वाले समय में अस्पताल में प्रसव कराने की व्यवस्था करने के प्रयास किए जा रहे हैं।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन कार्यक्रम के अंतर्गत ग्राम सजवानी के उपस्वास्थ्य केंद्र का 6.50 लाख रुपए से नवीनीकरण का काम शुरू किया गया है। 10 साल पहले बना भवन जर्जर होने से लोगों व एएनएम को काफी परेशानी होती थी। बारिश के समय भवन की छत से पानी टपकता था। दरवाजे और खिड़कियां जर्जर हो गई थी। स्वास्थ्य सुविधा को बेहतर करने के लिए भवन के नवीनीकरण का काम शुरू किया गया है। मार्च में काम शुरू होने के बाद कोराेना कर्फ्यू के चलते काम बंद हो गया था। इसके बाद जून में फिर से इसका काम शुरू किया गया।

कर्मचारियों ने छत की मरम्मत कराने के साथ, पूरे भवन की दीवाराें, खिड़कियों व दरवाजों की मरम्मत की। मेडिकल वेस्ट करने की अलग यूनिट बनाई गई। भवन की दीवाराें पर पीओपी कराकर पुताई का काम किया गया। वहीं अस्पताल में आने वाले दिव्यांग मरीज के लिए नई रैंप भी बनवाई गई। फिलहाल बिजली फिटिंग का काम किया जा रहा है। एक सप्ताह में काम पूरा होने के बाद भवन स्वास्थ्य विभाग को हैंडओवर किया जाएगा। नए भवन में लोगों के इलाज के लिए सीएचओ के पद पर कर्मचारी की नियुक्ति हो गई है। उपस्वास्थ्य केंद्र का संचालन होने से सजवानी खम व धाबाबावड़ी गांव के 3500 लोगों को गांव में ही इलाज की सुविधा मिल सकेगी।

उपस्वास्थ्य केंद्र के नए भवन में हो सकेगी खून की भी जांचें
अस्पताल में पदस्थ सीएचओ ममता उचवारे ने बताया नए भवन में कमरों को व्यवस्थित बनाया गया है। पैथोलॉजी लैब में खून की जांच करने के लिए विभाग की तरफ से उपकरण भी मिले हैं। अस्पताल में हिमोग्लोबिन, मलेरिया, एचआईवी व सिकल सेल की जांचें हो सकेंगी। भवन में ओपीडी का संचालन होने से मरीज अपना इलाज करवा सकेंगे। महिलाओं का टीकाकरण भी सही तरीके से हो सकेगा। एएनएम संगीता फिलहाल घर-घर जाकर महिलाओं का टीकाकरण कर रही हैं। नए भवन में महिलाओं का स्वास्थ्य परीक्षण करने में सहूलियत होगी।

प्रसव की व्यवस्था करने के कर रहे प्रयास
सजवानी खम व धाबाबावड़ी की गर्भवती महिलाओं को प्रसव कराने के लिए फिलहाल तलवाड़ा डेब ले जाना पड़ता है। उपस्वास्थ्य केंद्र में प्रसव कराने की व्यवस्था नहीं है। नए भवन में व्यवस्थाओं का सही संचालन होने पर यहां महिलाओं का प्रसव कराने के लिए स्वास्थ्य विभाग के अफसर प्रयास कर रहे हैं। संस्थागत प्रसव को बढ़ावा देने के लिए उपस्वास्थ्य केंद्र में आगामी समय में प्रसव कराने के लिए संसाधन जुटाए जा रहे हैं।

बिजली फिटिंग का कार्य होते ही हैंडओवर करेंगे भवन

  • सजवानी खम में पुराने उपस्वास्थ्य केंद्र का नवीनीकरण करने का काम 6 महीने की जगह सिर्फ तीन माह में पूरा किया गया है। बिजली फिटिंग और साफ-सफाई का कार्य एक सप्ताह में पूरा कर भवन स्वास्थ्य विभाग को हैंडओवर किया जाएगा। -जुगल किशोर, इंजीनियर, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, बड़वानी
खबरें और भी हैं...