पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पर्युषण पर्व का तीसरा दिन:उत्तम आर्जव धर्म का बताया महत्व, किया पूजन विधान

बड़वानी5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • दोपहर में छह ढाला की क्लास ली गई

दिगंबर जैन समाज द्वारा पर्युषण पर्व के तीसरे दिन रविवार को उत्तम आर्जव धर्म के तहत पूजन विधान किया गया। सुबह मंदिर में भगवान का अभिषेक, शांतिधारा, आरती और नित्य नियम पूजन हुई। इसमें युवाओं लोगों व बच्चों ने पूजन किया। समाज सदस्य मनीष जैन ने बताया रविवार को भगवान को पांडुकशिला पर विराजित करने का सौभाग्य प्रेम कुमार जैन को मिला।

भगवान के प्रथम अभिषेक बेसर भाई पाटौदी चिखल्दा वाला, भगवान की शांतिधारा का सौभाग्य सौरभ जैन व सुबह और शाम की आरती का सौभाग्य आदिश मनीष जैन को मिला। दोपहर में छह ढाला की क्लास ली गई। शाम को आरती की। संजय भैया ने उत्तम आर्जव धर्म पर प्रवचन दिया। रात को सांस्कृतिक कार्यक्रम और प्रतियोगिताएं हुई।

खबरें और भी हैं...