पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अनदेखी:खेतों की बिजली लाइन से जुड़ा नेशनल हाईवे का हाईमास्ट, रात में केवल 4 घंटे ही जलता है

बड़वानी10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • ठीकरी बायपास पर रात में पसरा रहता है अंधेरा, लोगों को रहता है दुर्घटना का खतरा
  • किसानों ने की हाईमास्ट की लाइन मेनलाइन से जोड़ने की मांग

आगरा-मुंबई नेशनल हाईवे क्रमांक 3 स्थित ठीकरी बायपास पर लगा हाईमास्ट रात में केवल चार घंटे ही जलता है। इसके कारण रात के समय लोगों को यहां से रोड क्रास करते समय हमेशा दुर्घटना का खतरा बना रहता है। लोगों ने बताया कि यहां लगे हाईमास्ट की लाइन खेतों की लाइन से जुड़ी होने के कारण ये बार-बार बंद-चालू होता रहता है। वहीं रात के समय खेतों में होने वाली चार घंटे की बिजली सप्लाय के दौरान ही हाईमास्ट जलता है। बाकी समय यहां पर अंधेरा ही पसरा रहता है।

इसके चलते यहां से गुजरने वाले लोगों के साथ ही पैदल रोड पार करने वाले लोगों को हर समय हादसे का खतरा बना रहता है। खलघाट से सेंधवा फोरलेन हाईवे पर कई प्रकार की अनियमितताएं देखने को मिलती है। इसका एक सीधा उदाहरण ठीकरी बायपास के दोनों ओर लगे हाईमास्ट भी हैं। जो कि रात में रोशनी नहीं देते हैं। इससे कई बार वाहन चालक भी रास्ता नहीं समझ पाते ओर गलत रास्ते पर चले जाते हैं।

फाटे पर सुविधा घर में लगा रहता है ताला
ठीकरी-सेगवाल फाटे के पास से गुजरने वाले वाहनों के लिए सर्विस रोड पर सुविधा घर बना रखे हैं लेकिन आए दिन इनमें ताला लगा रहता है। इससे राहगीरों को इनका फायदा नहीं मिल पा रहा है। कभी पानी नहीं है। वहीं साफ-सफाई नहीं होने से यहां गंदगी व बदबू से लोग परेशान होते हैं लेकिन जिम्मेदार इस ओर ध्यान नहीं दे रहे हैं। वहीं बायपास पर यात्री प्रतीक्षालय तो बने हैं लेकिन उन पर कोई व्यवस्था नहीं है। बैठने के लिए कुर्सियां नहीं हैं। लाइट की भी व्यवस्था नहीं है।

बाहर से आने वाले भटक रहे रास्ता
बायपास पर अंधेरा रहने से बाहर से आने वाले वाहनों को ठीकरी गांव में अंदर आने का पता नहीं चलता। न ही रात होने से चौराहे पर कोई बोर्ड नजर आता है। इससे कई बार ठीकरी-बड़वानी जाने वाले लोग रास्ता भटक जाते हैं। क्रॉसिंग होने की वजह से भी दुर्घटना का डर बना रहता है। नेशनल हाईवे अथॉरिटी के माध्यम से यहां हाईमास्ट तो लगाए गए हैं लेकिन बिजली सप्लाई खेतों की लाइन से की गई है। जबकि खेतों की लाइन रात में केवल 4 घंटे ही चालू रहती है। उसमें भी कई बार ट्रिपिंग होती है। इससे यहां अंधेरा पसरा रहता है।
युवा बोले- अंधेरे में करते हैं जॉगिंग
नगर के कई युवा अल सुबह व देररात में जॉगिंग करने निकलते हैं। इन युवाओं ने बताया रात को हमेशा चौराहे पर अंधेरा रहता है। जानकारी अनुसार यहां के हाईमास्ट का कनेक्शन खेत की लाइन से है। जो कि केवल 10 घंटे ही चालू रहती है। इसमें भी 6 घंटे दिन व 4 घंटे रात में खेतों की लाइन मिलती है। इतनी ही देर हाईमास्ट भी चालू रहता है। बाकी समय अंधेरा रहता है। लोगों ने हाईमास्ट की लाइन मेनलाइन से जोड़ने व रातभर हाईमास्ट चालू रखने की मांग की है। ताकि लोगों को हादसे का खतरा नहीं रहे।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय चुनौतीपूर्ण है। परंतु फिर भी आप अपनी योग्यता और मेहनत द्वारा हर परिस्थिति का सामना करने में सक्षम रहेंगे। लोग आपके कार्यों की सराहना करेंगे। भविष्य संबंधी योजनाओं को लेकर भी परिवार के साथ...

    और पढ़ें