पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अनदेखी, एसडीएम बोले- मामले की जांच करेंगे:लॉकडाउन में अनुमति के बगैर जेसीबी से हो रहा रेत का उत्खनन व परिवहन, शिकायत के आधे घंटे बाद पहुंचे अफसर

खरगोन22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सांगवी में जेसीबी से उत्खनन हो रहा था। - Dainik Bhaskar
सांगवी में जेसीबी से उत्खनन हो रहा था।

भीकनगांव विकासखंड क्षेत्र में रेत, मुरुम या अन्य उत्खनन की कोई अनुमति नहीं है। इसके बावजूद जेसीबी व ट्रैक्टर-ट्राॅलियों से काली रेत, मुरुम, पत्थर व बंडे का उत्खनन व परिवहन हो रहा है। यही नहीं शिकायत के बाद भी कार्रवाई नहीं की जा रही है। ऐसा ही एक मामला शनिवार को ग्राम सांगवी में सामने आया। यहां प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना की पुलिया बन रही है। यहां दो दिन से बैड़ी पर बिना अनुमति जेसीबी से मुरुम की खुदाई कर मुरुम डाली जा रही थी। इसकी शिकायत के लिए तहसीलदार देवकुंवर सोलंकी व नायब तहसीलदार ममता मिमरोट को फोन किया। फोन रिसीव नहीं होने पर एसडीएम एलएल अहिरवार को घटनाक्रम बताया। करीब आधे घंटे बाद तहसीलदार व नायब तहसीलदार मौके पर पहुंची। तब तक जेसीबी व ट्रैक्टर चालक वाहन लेकर चले गए।

यहीं नहीं अधिकारियों के पहुंचने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की गई। कब्जाधारी सांगवी के भोलूराम बारेला ने बताया जेसीबी से 2 दिनों से मुरुम की खुदाई कर पुलिया में डाली जा रही है। उसे कहा गया कि खुदाई से जमीन समतल हो जाएगी। तहसीलदार का कहना था कि शिकायतकर्ता कोर्ट में गवाही देने नहीं आते। खनिज निरीक्षक प्रियंका अजनारे ने कहा मौके पर जेसीबी-ट्रैक्टर मिलने पर कार्रवाई होगी। एसडीएम ने कहा मामले की जांच कर दोषियों पर कार्रवाई करेंगे।
विस में उठा था मुद्दा
विधायक झूमा सोलंकी ने कहा क्षेत्र में अवैध उत्खनन जोरों से चल रहा है। इसको लेकर विधानसभा में भी प्रश्नकाल के दौरान मुद्दा उठाया था। जवाब आया कि पूरे जिले में सिर्फ भीकनगांव विधानसभा में कोई भी रेत, मुरुम व अन्य उत्खनन की अनुमति नहीं दी गई है। इसके बाद भी उत्खनन चल रहा है। संकट प्रबंधन समिति की बैठक में भी इस विषय पर चर्चा की थी।

खबरें और भी हैं...