पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

चिंचाला:50 साल पुराने कुएं में 15 फीट पानी, इसमें लोग डाल रहे कचरा-मलबा

बुरहानपुर7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कचरे और मलबे के कारण नजर नहीं आ रहा 70 फीट गहरा कुआं

शहर से सटे चिंचाला के लोगों की समस्या दूर होने का नाम नहीं ले रही है। गांव का एकमात्र रास्ता बदहाल होकर कीचड़ से भर गया है। रास्ते और पक्के रोड के लिए लोग आंदोलन कर रहे हैं। कीचड़ में बैठकर चक्काजाम करने के साथ एसडीएम का घेराव तक कर चुके हैं। इसके बाद पंचायत ने यहां मुरम डालने का काम शुरू किया था, लेकिन रास्ते की जमीन रेलवे की होने के कारण अधिकारियों ने काम रुकवा दिया। रास्ते के साथ ही गांव में कई समस्याएं पसरी हैं, जिनसे ग्रामीण परेशान हो रहे हैं। गांव के बीचोंबीच करीब 50 साल से भी ज्यादा पुराना कुआं है। इसमें 15 फीट तक पानी भरा है। लेकिन लोग इसमें कचरा-मलबा और फूलमालाएं डाल रहे हैं। यही नहीं कचरे और मलबे से कुआं इस कदर ढंक गया है कि यह नजर तक नहीं आ रहा है। ग्रामीणाों ने कुएं की सफाई और गहरीकरण कराने की मांग की है। उनका कहना है कुएं को फिर से चालू किया जाए तो पूरे गांव की पानी की समस्या दूर हो सकती है। 300 मकान और करीब 2 हजार की आबादी का गांव चिंचाला दो हिस्सों में बंटा है। एक हिस्सा रेलवे पुलिया के एक तरफ तो दूसरा दूसरी तरफ है। गांव के बीच जहां कुआं है, वहां गणपति और नवदुर्गा उत्सव सहित अन्य धार्मिक कार्यक्रम भी होते हैं। ग्रामीणों ने कहा गांव का मुख्य क्षेत्र होने के कारण इस कुएं से पूरे गांव में पानी की आपूर्ति की जा सकती है। 50 साल पहले तक सभी ग्रामीण इसी कुएं से पानी भरते थे। अब लोगों ने इसके आसपास शौचालय तक बना लिए हैं। बंद पड़े कुएं को लेकर पंचायत सहित मुख्यमंत्री ऑनलाइन पर भी कई बार शिकायत कर चुके हैं। लेकिन आज तक कुछ नहीं हो सका है। पंचायत और अधिकारियों की ओर से सिर्फ आश्वासन ही मिल रहा है। गांव में पानी की समस्या को देखते हुए कुएं को जल्द चालू किया जाना चाहिए।

पुलिया के दूसरी तरफ 12 किमी दूर से डाली पाइपलाइन, यह भी नाले के बीच से गुजरी
ग्रामीणों ने बताया गांव में अभी जलप्रदाय के लिए पुलिया के दूसरी तरफ 2 किमी दूर स्थित ट्यूबवेल से पाइपलाइन डाली गई है। यह भी अंडरग्राउंड नहीं है। नाले और कचरे गंदगी के बीच से पाइपलाइन गुजरी है। पाइपलाइन फूटने पर घरों तक गंदा पानी पहुंचता है। चार-पांच दिन पहले भी पाइपलाइन फूट गई थी। घरों तक गंदा पानी पहुंचने पर लोगों ने पंचायत में शिकायत की। इसके बाद टूटा हुआ हिस्सा बदलकर पाइपलाइन जोड़ दी गई। इसके पहले भी कई बार ऐसा हो चुका है। ऐसे में करीब 30 प्रतिशत पानी तो व्यर्थ बह जाता है। यह पाइपलाइन भी करीब 15 साल पुरानी हो चुकी है। यहां नई अंडरग्राउंड पाइपलाइन डाली जाना चाहिए। कुएं पर हैंडपंप भी लगाया गया था, लेकिन अब यह भी बंद पड़ा है और कचरे से ढंक गया है।

खुले पड़े नाली के चैंबर, बच्चों सहित लोग गिर रहे
गांव में ढंग के रोड तक नहीं है। हर तरफ कीचड़ और गंदा पानी भरा है। नालियों के चैम्बर भी खुले पड़े हैं। इस कारण आएदिन हादसे हो रहे हैं। खुले पड़े चैम्बर में बच्चों सहित लोग गिरकर घायल हो रहे हैं। दो दिन पहले ही एक बच्चे की साइकिल इसमें फंस गई थी और वह गिर पड़ा था। चैम्बर पर ढक्कन लगाकर इन्हें जल्द बंद किया जाना चाहिए।

  • पुराना कुआं निजी जमीन पर है। यह काफी संकरा भी है। यहां मजदूरों को भी काम करने में परेशानी होगी। फिर भी जमीन मालिक और इंजीनियर से बात कर कुएं की सफाई और गहरीकरण को लेकर बात करेंगे। ​​​​​​​-सुरेखाबाई कुंदनसिंह, सरपंच ग्राम पंचायत चिंचाला
खबरें और भी हैं...