पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नवरात्रि:150 फीट ऊंची पहाड़ी पर मां इच्छादेवी को ओढ़ाई 121 मीटर की चुनरी

बुरहानपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोविड-19 की वजह से 110 मीटर लंबी चुनरी यात्रा 8 मीटर में सिमट गई, यात्रा में भक्त भी 25-30 रह गए

मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र की बॉर्डर पर सतपुड़ा की तलहटी के बीच 150 फीट ऊंचाई पर विराजीं मां इच्छादेवी को साेमवार दोपहर 121 मीटर की चुनरी ओढ़ाई गई। सोमवार सुबह करीब 8.30 बजे शाह बाजार स्थित माता मंदिर से चुनरी यात्रा निकली। गजेंद्र पाटील के नेतृत्व में 25-30भक्त पैदल इच्छापुर के लिए रवाना हुए। कोविड-19 की गाइडलाइन की वजह से 110 मीटर से ज्यादा लंबी चुनरी यात्रा इस बार सिर्फ आठ मीटर में सिमट कर रह गई। उत्साह आज भी उतना नहीं दिखा। हर साल यात्रा में ढाई हजार भक्त शामिल होते आए हैं। लेकिन इस साल इनकी संख्या कम होकर 25-30 रह गई। पारंपरिक शहनाई और नगाड़े के मंगल वादन के बीच यात्रा आगे बढ़ी। मां इच्छादेवी के चित्र को पालकी में विराजित किया गया। पीछे लकड़ी में लपेटी 121 मीटर लंबी चुनरी थी। चुनरी यात्रा महजनापेठ, शिकारपुरा और अन्य प्रमुख मार्गों से होती हुई इंदौर-इच्छापुर हाईवे पर पहुंची। शाहपुर, दापोरा और चापोरा क्षेत्र में श्रद्धालुओं द्वारा यात्रा पर फूल बरसाए गए। इस बीच पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष ज्ञानेश्वर पाटील, भाजपा जिलाध्यक्ष मनोज लधवे सहित महिलाओं ने आरती उतारी।

2019 की यात्रा 5वां साल 110 मीटर लंबी यात्रा 101 मीटर लंबी चुनरी 2500 पद यात्री 25 किमी की यात्रा 2020 की यात्रा 6वां साल 8 मीटर लंबी यात्रा 121 मीटर लंबी चुनरी 25 पद यात्री 25 किमी की यात्रा

साढ़े सात घंटे में 25 किमी पैदल चलकर पहुंचे मंदिर
शहर से मंदिर तक करीब 25 किमी पैदल चलकर भक्त साढ़े सात घंटे में इच्छादेवी मंदिर पहुंचे। शाम 4.20 बजे सभी ऊंची पहाड़ी की सीढिय़ां चढ़े और माता रानी को चुनरी ओढ़ाई। कोरोना संक्रमण की वजह से इच्छादेवी मंदिर में भीड़ नहीं रही। सामाजिक दूरी बनाकर कतार में लगकर भक्तों ने माता के दर्शन किए। पिछले पांच दिन से यहां श्रद्धालुओं की यही स्थिति है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- दिन उन्नतिकारक है। आपकी प्रतिभा व योग्यता के अनुरूप आपको अपने कार्यों के उचित परिणाम प्राप्त होंगे। कामकाज व कैरियर को महत्व देंगे परंतु पहली प्राथमिकता आपकी परिवार ही रहेगी। संतान के विवाह क...

और पढ़ें