पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बदला मौसम:एक घंटे में 5 मिमी पानी बरसा, कई खेतों में गेहूं और मक्का की फसल जमींदोज

बुरहानपुर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 18 साल में पहली बार फरवरी में हुई बारिश, शहर की सड़कों पर भराया पानी

18 साल में पहली बार फरवरी में बेमौसम बारिश हुई। गुरुवार को शहर सहित जिले के कई हिस्सों में बारिश हुई। शहर में एक घंटा रुक-रुककर तेज पानी बरसा। इससे सड़कों पर पानी भर गया। भीगने से बचने के लिए लोगों को दुकान और शेडों का आसरा लेना पड़ा। एक घंटे में पांच मिमी पानी बरसा। तेज हवा और बारिश से डोईफोड़िया क्षेत्र के कई खेतों में गेहूं की फसल जमींदोज हो गई।

मौसम में यह बदलाव द्रोणिका और चक्रवात के कारण हुआ है। मौसम विभाग ने बारिश होने की चेतावनी पहले ही जारी कर दी थी। यलो अलर्ट जारी कर बुरहानपुर सहित प्रदेश के अन्य जिलों में गरज-चमक के साथ तेज बारिश होने की संभावना जताई थी और यह सही भी साबित हुई। शहर में गुरुवार सुबह से बादल छाए रहे। दोपहर 12 बजे बादल गहरा गए और हल्की बारिश शुरू हुई लेकिन कुछ देर में बारिश थम गई। आधे घंटे बाद फिर पानी बरसने लगा। देखते ही देखते बारिश तेज हो गई। एक घंटे की बारिश से सड़कों पर पानी भर गया। इस कारण लोगों को आवाजाही में परेशानी हुई। पेयजल योजना और सीवरेज के लिए जिन हिस्सों में खुदाई हुई है, वहां कीचड़ के कारण दिक्कत और बढ़ गई।

किसान बोले- गेहूं की चमक कम होगी, कटाई में समय लगेगा

बारिश के बाद किसानों को अब गेहूं-चना फसल के भीगने का डर है। निंबोला क्षेत्र के किसान रुपेश इंगले और किशोर कैथवास ने बताया बारिश से खेतों में तैयार गेहूं-चना फसल भीग गई है। जो फसल एक सप्ताह में निकलने वाली थी, वह अब 15 दिन बाद निकलेगी। गेहूं फसल की चमक कम होने का डर ज्यादा है।

द्रोणिका और चक्रवात ने बदला मौसम

द्रोणिका और चक्रवात के कारण मौसम में बदलाव हुआ है। द्रोणिका उत्तर-मध्य महाराष्ट्र के विदर्भ से गुजर रही है। ऊपरी हवा के चक्रवात का भी असर होने से बारिश हो रही है। हालांकि यह मौसम ज्यादा समय के लिए नहीं है। 24 घंटे तक इसका असर रहेगा। इसके बाद मौसम साफ हो जाएगा।

^बेमौसम बारिश से रबी की हरी फसलों को फायदा होगा। जो गेहूं देरी से बोया है और अभी हरा है, उसके लिए बारिश काफी अच्छी है। मक्का फसल को भी इससे फायदा होगा। हार्वेस्टिंग स्टेज पर सूख चूकी गेहूं फसल को भी ज्यादा नुकसान नहीं है, क्योंकि बारिश ज्यादा समय नहीं हुई लेकिन चना फसल को नुकसान हो सकता है। देरी से बोई गई चना फसल, जिसमें फूल आ रहे हैं, उसका उत्पादन प्रभावित होने का डर है। आम के पेड़ पर लगे बौर भी बारिश और तेज हवा से झड़ सकते हैं। - डॉ. भूपेंद्रसिंह, कृषि वैज्ञानिक, बुरहानपुर

हतनूर में मंदिर पर गिरी बिजली, कलश पड़ा काला

शहर से पांच किमी दूर ग्राम हतनूर के मंदिर पर बिजली गिरी। ग्रामीणों ने बताया बारिश के बीच अचानक तेज रोशनी मंदिर से आकर टकराई। इससे मंदिर को नुकसान नहीं हुआ लेकिन कलश का रंगा हल्का काला हो गया। बिजली की तेज आवाज से आसपास रहने वाले लोग सहम गए।

तेज हवा से टूटी पेड़ों की डालियां, कटी फसलें भीगीं

देड़तलाई क्षेत्र में बारिश नहीं हुई लेकिन तेज हवा से परेशानी हुई। तेज हवा से खंडवा रोड पर कई पेड़ों की डालियां टूट गई। यातायात प्रभावित नहीं हुआ। नेपानगर, सारोला और अंबाड़ा सहित अन्य गांवों में भी तेज बारिश हुई। इससे खेतों में कटी पड़ी फसलें भीग गई।

15 से ज्यादा गांवों में 100 हेक्टे. गेहूं फसल हुई आड़ी

डोईफोड़िया क्षेत्र में दोपहर 12 बजे से तेज हवा के साथ बारिश हुई। सिरपुर व डोईफोड़िया क्षेत्र के 15 से ज्यादा गांवों में 50 से ज्यादा किसानों की 100 हेक्टे. में लगी गेहूं व मक्का फसल आड़ी पड़ गई। हसीनाबाद व मातापुर के किसानों ने बताया पिछले साल खराब हुई फसल का अभी मुआवजा नहीं मिला है। इस बारिश से भी गेहूं फसल को नुकसान हुआ है। क्षेत्र के सिरपुर, हसीनाबाद, कालापाट व लोखंडिया आदि के खेतों में फसलों को ज्यादा नुकसान हुआ है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- किसी विशिष्ट कार्य को पूरा करने में आपकी मेहनत आज कामयाब होगी। समय में सकारात्मक परिवर्तन आ रहा है। घर और समाज में भी आपके योगदान व काम की सराहना होगी। नेगेटिव- किसी नजदीकी संबंधी की वजह स...

    और पढ़ें