पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ईद-उल-अजहा आज:ईदगाह पर नहीं होगी सामूहिक नमाज, मस्जिदों में 50 लोग अदा करेंगे विशेष नमाज

बुरहानपुर3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जामा मस्जिद सहित अन्य मस्जिदों में सुबह 6.30 बजे होगी नमाज, सुरक्षा के लिए पुलिस बल रहेगा तैनात

ईद-उल-अजहा (बकरीद ) पर ईदगाह पर सामूहिक नमाज अदा करने पर इस बार भी पाबंदी रहेगी। गृह विभाग के नए आदेश के बाद धार्मिक स्थल पर 50 लोग एक साथ मौजूद रह सकते हैं। इसलिए मस्जिदों में सुबह 50 लोगों की मौजूदगी में नमाज अदा की जा सकेगी। सुरक्षा की दृष्टि से सभी मस्जिदों के बाहर सुरक्षा बल तैनात रहेगा।

कोरोना संक्रमण के कारण लगातार दूसरे साल भी ईद पर ईदगाह में सामूहिक नमाज अदा करने की अनुमति नहीं है। मार्च 2020 से कोरोना महामारी के कारण सभी त्योहार पाबंदियों के बीच मनाए जा रहे हैं। दूसरे साल भी ईदु-उल-अजहा की मुख्य नमाज ईदगाह में नहीं होकर मस्जिदों में कोरोना प्रोटोकॉल के साथ होगी। इसके लिए प्रशासनिक स्तर पर तैयारी हो गई है। शासन की नई गाइडलाइन अनुसार मस्जिदों में एक समय में केवल 50 लोग ही मौजूद रह सकेंगे। नई गाइडलाइन के बाद समाजजन से अपने क्षेत्र की मस्जिद में ही नियमों का पालन करते हुए नमाज अदा करने की अपील की गई है। जामा मस्जिद में ईद की विशेष नमाज सुबह 6.30 बजे होगी।

ईद उल अजहा के लिए कलेक्टर प्रवीण सिंह ने क्षेत्रवार मजिस्ट्रेट बनाए हैं। ये सभी बुधवार सुबह से अपने क्षेत्रों का निरीक्षण कर व्यवस्थाएं देखेंगे। नमाज के समय मजिस्ट्रेट अपने क्षेत्र में भ्रमण कर कोरोना गाइडलाइन का पालन कराएंगे। हर मस्जिद के पास सुरक्षा की दृष्टि से पुलिस बल तैनात रहेगा।

कुर्बानी के बकरों की कम खरीदी, भाव भी ज्यादा नहीं

ईद-उल-अजहा पर कुर्बानी का बड़ा महत्व है। कोरोना के कारण इस बार यह बाजार पहले की तरह नहीं सज पाया। पहले त्योहार पर एक लाख रुपए से ज्यादा की बोली बकरों की लग जाया करती थी। लेकिन इस बार मंडी में बकरे खरीदी के लिए ज्यादा लोग नहीं पहुंचे। हालांकि कोरोना महामारी में ऑनलाइन खरीदारी का क्रेज बढ़ा है।

खबरें और भी हैं...