पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

रहवासी परेशान:पेयजल योजना में पाइप लाइन डालने के लिए खोद रहे नई सड़कें, रहवासी परेशान

बुरहानपुर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सीएमओ बोले- सड़क किनारे हो रही खुदाई, सड़कों की स्थिति पहले जैसी ही रहेगी

नगर में पेयजल योजना में पाइप लाइन डालने के लिए नई सड़कें ही खोदी जा रही है। कर्मचारी भी काम करने में लापरवाही बरत रहे हैं। इससे आम लोग परेशान हैं। डर इस बात का है कि सालों बाद क्षेत्र में व्यवस्थित सड़कों का निर्माण हुआ है। अब यह खराब हुई तो फिर से पुरानी स्थिति के कारण परेशानी होगी। नगरपालिका ने नगर में करीब 34 करोड़ की लागत से पेयजल परियोजना का काम कराया जा रहा है। जगह-जगह पीने के पानी की पाइप लाइनें डाली जा रही है। विकास के इस काम में सभी सहयोग कर रहे हैं लेकिन निर्माण कार्य में लगे कंपनी के कर्मचारी नगर की अच्छी-अच्छी सड़कों को बदसूरत बना रहे हैं। अधिकांश जगह सडक खोदने के बाद उसे व्यवस्थित तरीके से ढंका नहीं जा रहा है। मामले में सीएमओ राजेश मिश्रा का कहना है कि रोड के साइड से खुदाई कराई जा रही है। सड़कें खराब नहीं होने दी जाएगी। गौरतलब है काफी समय बाद नगर को एक बड़ी महती परियोजना मिली है। यह योजना के मूर्तरूप लेने के बाद आमजन को 24 घंटे पीने का पानी मुहैया हो सकेगा। साथ ही घर-घर पानी के मीटर लगाए जाएंगे लेकिन इस दौरान की जा रही खुदाई में नगर की सड़कों की स्थिति बिगड़ रही है। नगरपालिका द्वारा कुछ माह पूर्व ही अधिकांश क्षेत्रों में नई सड़कें बनाई गई थी। ऐसे में बेतरतीब खुदाई से नगर का स्वरूप बिगड़ रहा है।

जानिए... योजना के तहत यह होगा

  • नगर के अलावा अंधारवाड़ी, सातपायरी, भातखेड़ा तक पाइप लाइन बिछाई जाएगी। आने वाले दो साल में लोगों को 24 घंटे पीने का पानी उपलब्ध हो सकेगा।
  • योजना के तहत पाइप लाइन डालने के साथ ही 18 लाख लीटर क्षमता की दो पानी की टंकी का निर्माण भी होगा।
  • योजना के तहत पीर बाबा दरगाह ताप्ती पुलिया के पास बैराज बनाया जाएगा। यहां एनिकट से पानी ठंडे नाले तक पहुंचाया जाएगा। यहां उसका ट्रीटमेंट करने के बाद पाइप लाइनों के माध्यम से शहर में स्थित दो पुरानी और एक नई टंकी में पहुंचाकर जल वितरण किया जाएगा।
  • हर घर में पानी के मीटर लगेंगे। प्रति व्यक्ति 135 लीटर पानी मिलेगा। शहर में दो टंकियां पूर्व से है इसके अलावा एक नई बनेगी।

दोबारा व्यवस्थित करने का है नियम
नियमानुसार अगर सड़क खोदी जाती है तो उसे दोबारा उसी तरह व्यवस्थित करने की जिम्मेदारी संबंधित निर्माण एजेंसी की होती है। पिछले दिनों वार्ड नंबर 16 में पीने के पानी की पुरानी पाइप लाइन फोड दी गई थी। बाद में नपाध्यक्ष और क्षेत्रीय पार्षद के हस्तक्षेप के बाद समस्या का निराकरण हुआ था। अब सड़कों की बारी है।
कुछ माह पहले ही बनी थी नई सडकें
लाखों रुपए की लागत से शहर के अधिकांश वार्डों में कुछ माह पहले ही नई नई सड़कों का निर्माण हुआ था। निर्माण में भी पहले तत्कालीन सीएमओ के कारण काफी रोडे आए थे। अब जब सड़कें बन गई है तो पेयजल परियोजना के कारण उन्हें बेतरतीब ढंग से उखाड़ा जा रहा है। उनका कहना है पेयजल परियोजना के लिए खुदाई की जाए इससे इनकार नहीं है लेकिन सड़कों को दोबारा व्यवस्थित भी किया जाए।

सडकों की पूरी तरह खुदाई नहीं हो रही है। आधे हिस्से से ही उसे खोदा जा रहा है। फिर भी कहीं ऐसी स्थिति बनती है तो हम ध्यान रखेंगे। जहां-जहां सडक खोदी जा रही है, वहां दोबारा उसे व्यवस्थित करने का काम भी कराया जा रहा है।
-राजेश मिश्रा, सीएमओ, नपा, नेपानगर

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- धार्मिक संस्थाओं में सेवा संबंधी कार्यों में आपका महत्वपूर्ण योगदान रहेगा। कहीं से मन मुताबिक पेमेंट आने से राहत महसूस होगी। सामाजिक दायरा बढ़ेगा और कई प्रकार की गतिविधियों में आज व्यस्तता बनी...

और पढ़ें