पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

इल्ली का प्रकोप:चना फसल पर डेढ़ इंच इल्ली, 15 दिन में दो बार दवा का छिड़काव, ये भी बेअसर

बुरहानपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

निंबोला क्षेत्र में चना फसल पर इल्ली का प्रकोप बढ़ता जा रहा है। दिसंबर में मौसम खराब होने पर छोटी इल्ली लगी थी, लेकिन जनवरी में एक हफ्ते से मौसम खराब चलने के कारण ये इल्ली एक से डेढ़ इंच तक बड़ी हो गई है। इससे बचाव के लिए किसान महंगी कीटनाशक दवा का छिड़काव कर रहे हैं। उन्हें15 दिन में दो बार दवा का छिड़काव करना पड़ रहा है, बावजूद इसका इल्लियां पर कोई असर नहीं पड़ रहा है। फसल की यह स्थिति देखकर किसानों की चिंता बढ़ती जा रही है। उन्होंने कहा मौसम जल्द साफ नहीं हुआ तो चना फसल बुरी तरह प्रभावित होगी। अब मौसम खुलने के साथ धूप निकलना चाहिए, तभी फसल बच सकती है। पिछले एक हफ्ते से जिलेभर में मौसम खराब चल रहा है। कभी बादल छा रहे हैं तो कभी बूंदाबांदी और हल्की बारिश हो रही है। धूप नहीं निकल रही है। इसका सबसे ज्यादा बुरा असर चना फसल पर पड़ रहा है। अकेले निंबोला क्षेत्र में छह हजार एकड़ में चना फसल लगाई गई है। लाख देखरेख करने के बाद भी इस पर इल्ली का प्रकोप बढ़ता जा रहा है। इसको देखते हुए किसानों की चिंता भी बढ़ती जा रही है। किसानों ने कहा दिसंबर में भी मौसम खराब हुआ था, लेकिन कुछ दिन में साफ हो गया था। यह पांच साल बाद हो रहा है कि जनवरी में एक हफ्ते से लगातार मौसम खराब चल रहा है। ऐसा रहा तो फसल बुरी तरह प्रभावित होगी। एक एकड़ में एक से दो क्विंटल तक उत्पादन कम हो सकता है। किसानों ने बताया चने की छोटी फसल पर इल्ली का प्रकोप नहीं है। जो फसल बहार पर आ गई है, उस पर इल्ली लग रही है।15 दिन में दो बार दवा का छिड़काव करने पर भी इसका असर नहीं हो रहा है। इस साल किसानों ने गेहूं फसल का रकबा एक हजार एकड़ कम करके चना फसल का रकबा एक हजार एकड़ बढ़ाया है। लेकिन अब फसल की हालत देखकर चिंता में पड़ गए हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आर्थिक दृष्टि से आज का दिन आपके लिए कोई उपलब्धि ला रहा है, उन्हें सफल बनाने के लिए आपको दृढ़ निश्चयी होकर काम करना है। कुछ ज्ञानवर्धक तथा रोचक साहित्य के पठन-पाठन में भी समय व्यतीत होगा। ने...

    और पढ़ें