पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पहाड़ों पर बारिश:राजघाट पर एक मीटर बढ़ा पानी

बुरहानपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जलस्तर 2016.130 मीटर पर पहुंचा, जिले में मौसम की बेरूखी जारी, औसत से 25% कम बरसा

जिले में मानसून की बेरूखी जारी है लेकिन जंगल-पहाड़ों पर हुई अच्छी बारिश ने ताप्ती नदी का जलस्तर बढ़ा दिया है। गुरुवार रात ताप्ती जलग्रहण क्षेत्र और महाराष्ट्र में हुई अच्छी बारिश से नदी में पानी बढ़ गया। राजघाट पर जलस्तर करीब एक मीटर तक बढ़ गया है।

जिले में मानसून आने काे 9 दिन हो चुके हैं लेकिन तेज बारिश नहीं हुई। जिले में अब तक 1.91 इंच पानी बरसा है, जो अब तक की औसत बारिश से 25% कम है। 18 जून तक की औसत बारिश 2.57 इंच है। आमतौर पर जिले में मानसून 15 जून के बाद आता है लेकिन इस बार जल्दी आने के बाद भी पानी नहीं बरसा है।

हालांकि जंगल व पहाड़ी क्षेत्र में तेज बारिश हुई है। इससे ताप्ती नदी के जलस्तर बढ़ा है। 10 दिन में नदी का जलस्तर एक मीटर से ज्यादा बढ़कर 216.130 मीटर हो गया है। जंगल-पहाड़ों के बरसाती नदी-नालों से बहकर पानी नदी में मिल रहा है। इस कारण यह मटमैला है।

जिले में 18 जून की स्थिति में पिछले साल से 4 इंच कम पानी बरसा है। पिछले साल अब तक 5.91 इंच पानी बरसा था। इस साल 1.91 इंच बारिश हुई है। जिले में अब तक बुरहानपुर में 0.96, नेपानगर में 2.21 व खकनार में 2.58 इंच पानी बरसा है। जबकि पिछले साल अब तक बुरहानपुर में 5.84, नेपानगर में 8.52 और खकनार में 3.36 इंच पानी बरसा था।

दिनभर छाए रहे बादल, सिर्फ बूंदाबांदी हुई
जिले में शुक्रवार को कहीं भी तेज बारिश नहीं हुई। शहर में दिनभर बादल छाए रहे। मौसम विभाग के अनुसार अगले दो दिन हल्की बारिश हो सकती है। कहीं-कहीं रुक-रुककर तेज बारिश होने के आसार हैं। 20 मई के बाद जिले में अच्छी बारिश हो सकती है।

हवाओं का रूख लगातार बदलने से मानसून दिशा से भटक गया है। निमाड़ के बाकी जिलों में भी जल्द मानसून पूरी तरह सक्रिय हो जाएगा। बारिश की खेंच से बोवनी कर चुके किसानों की चिंता बढ़ गई है। जिले में अब तक 20% बोवनी हो चुकी है।

खबरें और भी हैं...