• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Burhanpur
  • Passengers Are Not Getting RT PCR Test, Only Name, Address And Number Are Written, Some People Give Wrong Information

बुरहानपुर रेलवे स्टेशन से ग्राउंड रिपोर्ट:यात्रियों की नहीं हो रही है RT-PCR जांच, सिर्फ नाम, पता और नंबर लिखवाते हैं, कुछ लोग गलत जानकारी देते हैं

बुरहानपुर4 महीने पहले
स्टेशन पर लगी कतारें।

रेलवे स्टेशन पर कुछ दिनों पहले तक बाहर से आने वाले यात्रियों की आरटीपीसीआर जांच की जाती थी। लेकिन अब यहां जांच नहीं हो रही। उन्हें सात दिनों के लिए होम क्वारेंटाइन किया जा रहा है। ट्रेन से उतरते ही गेट पर मौजूद स्वास्थ्य विभाग की टीम लोगों के नाम, पते, मोबाइल नंबर नोट कर रही है। साथ ही 7 दिन के लिए क्वारेंटाइन रहने के लिए कहा जा रहा। ऐसे में कई लोग गलत मोबाइल नंबर, नाम, पता भी लिखवा देते हैं। बाद में स्वास्थ्य विभाग की टीम ऐसे लोगों को ढूंढ नहीं पाती।

बॉर्डर और रेलवे स्टेशन की जांच में अंतर

बुरहानपुर जिले से सटी महाराष्ट्र की तीन सीमाओं पर हो रही जांच और रेलवे स्टेशन की जांच में अंतर है। यहां जांच के नाम केवल नंबर, नाम, पते लिखे जा रहे हैं। जबकि बॉर्डर पर आरटीपीसीआर होता है, लेकिन वहां भी स्वास्थ्य विभाग कर्मचारियों को पूरी किट उपलब्ध नहीं करा रहा है। 300-500 तक किट दी जाती है। जबकि वहां से रोजाना 1 हजार से अधिक लोग आते-जाते हैं।

जिले के वाहनों की जांच के नाम पर चालानी कार्रवाई

खंडवा से बुरहानपुर जिले में आवागमन करने वाले वाहनों की जांच के नाम पर सिर्फ चालानी कार्रवाई हो रही है। अगर वाहन में बैठे लोगों ने मास्क भी लगाया है तो भी चालान बनाए जा रहे हैं। ऐसे में आए दिन विवाद होता रहता है।

खबरें और भी हैं...