नंदू भैया की समाधि पर रो पड़े भाजपा प्रत्याशी पाटिल:बुरहानपुर में पाटिल बोले-  32 साल से नंदू भैया से जुड़ा रहा, कदम-कदम पर मेरा मार्गदर्शन किया

बुरहानपुर9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
नंदू भैया की समाधि पर रोते हुए भाजपा प्रत्याशी ज्ञानेश्वर पाटिल को सांत्वना देते भाजपा जिलाध्यक्ष मनोज लधवे। - Dainik Bhaskar
नंदू भैया की समाधि पर रोते हुए भाजपा प्रत्याशी ज्ञानेश्वर पाटिल को सांत्वना देते भाजपा जिलाध्यक्ष मनोज लधवे।

बुरहानपुर में पाटिल भाजपा प्रत्याशी घोषित होने के बाद ज्ञानेश्वर पाटिल घर से पूजा-अर्चना कर इच्छापुर स्थित इच्छापुर देवी मंदिर गए। वहां से शाहपुर स्थित पूर्व सांसद नंदकुमार सिंह चौहान (नंदू भैया) की समाधि पर भावुक होकर रो पड़े।

पूर्व सांसद नंदू भैया की समाधि स्थल पर पहुंचकर भाजपा प्रत्याशी ज्ञानेश्वर पाटिल ने श्रद्धासुमन अर्पित कर नम आंखों से श्रद्धांजलि अर्पित की। इस दौरान वह काफी भावुक हुए और रो पड़े, इसके बाद भाजपा जिलाध्यक्ष मनोज लधवे ने उन्हें सांत्वना दी। पाटिल ने कहा कि 32 साल से नंदू भैया से जुड़ा रहा। कदम-कदम पर उन्होंने मेरा मार्गदर्शन किया।

जीवित थे तो जिला पंचायत अध्यक्ष बनवाया, नहीं रहे तो भी कर गए भला

सांसद नंदकुमार सिंह चौहान के ही कारण ज्ञानेश्वर पाटिल 2000 से 2005 तक खंडवा जिला पंचायत अध्यक्ष रहे। जब जिला पंचायत की सीट महिला आरक्षित हो गई तो उनकी पत्नी जयश्री को जिला पंचायत अध्यक्ष बनाया। इसके अलावा पाटिल जितने भी पदों पर रहे, सब में नंदू भैया ने ही मदद की। करीब 2 साल पहले भी पाटिल को पॉवरलूम फेडरेशन का अध्यक्ष बनाया गया था, लेकिन बाद में उन्हें हटा दिया गया था।

अब जब नंदू भैया नहीं रहे तो उनकी जगह टिकट ज्ञानेश्वर पाटिल को मिला। पाटिल ने नंदू भैया के कई चुनावों में मैनेजमेंट संभाला था।

खबरें और भी हैं...