रेत माफिया / ताप्ती नदी से रेत निकाल ऐतिहासिक परकोटे के किनारे लगा रहे ढेर

Pulling sand from Tapti river, piling up on the banks of historic park
X
Pulling sand from Tapti river, piling up on the banks of historic park

  • नेहरू नगर के 100 खोली क्षेत्र में किया जा रहा अवैध रेत का भंडारण

दैनिक भास्कर

May 30, 2020, 05:00 AM IST

बुरहानपुर. शहर में कर्फ्यू और लॉकडाउन के बावजूद नेहरू नगर के 100 खोली क्षेत्र में अवैध रेत खनन कर इसका भंडारण किया जा रहा है। ताप्ती नदी से रेत निकालकर 100 खोली क्षेत्र के खाली मैदान व पुलिस कॉलोनी के पिछले हिस्से में इसके ढेर लगाए जा रहे हैं। ऐतिहासिक परकोटे के पास भी रेत के ढेर लगे हैं। माफियाओं ने यहां 200 ट्रॉली से ज्यादा रेत जमा कर रखी है।
100 खोली क्षेत्र में परकोटे से होते हुए ताप्ती नदी के लिए रास्ता जाता है। ताप्ती नदी से रेत का अवैध खनन कर ट्रैक्टर-ट्रॉली से इसी रास्ते अलसुबह और शाम को रेत भरकर यहां लाई जा रही है। बाद में इसे शहर के विभिन्न हिस्सों में पहुंचाकर बेचा जा रहा है। लॉकडाउन और कर्फ्यू के बावजूद चल रहे इस अवैध कारोबार की ओर खनिज विभाग और प्रशासन के अफसरों का ध्यान नहीं है।

दिनभर मजदूर निकालते हैं नदी से रेत
ताप्ती नदी के राजघाट से लेकर बड़े पुल तक दिनभर रेत का अवैध खनन चल रहा है। मजदूर रेत निकालकर इसे जमा कर रहे हैं। शाम होते ही इसका अवैध परिवहन शुरू हो जाता है। ट्रैक्टर-ट्रॉली में भरकर कच्चे रास्ते से रेत 100 खोली क्षेत्र पहुंचाई जा रही है। यहां रेत के अवैध भंडारण से क्षेत्रवासी भी परेशान हैं। रात में रेत से भरे ट्रैक्टर-ट्रॉली गुजरने के कारण हादसे का अंदेशा रहता है। लोगों ने रेत माफियाओं पर कार्रवाई की मांग की है।
जिले में रेत खनन की अनुमति नहीं
जिले में रेत खनन के लिए 9 खदानों की नीलामी 11 करोड़ रुपए से ज्यादा में हुई है लेकिन शासन से अनुमति नहीं मिलने के कारण खदानों से रेत नहीं निकाली जा रही है। इसका फायदा उठाकर रेत माफिया अवैध खनन कर इसका काला कारोबार कर रहे हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना