आदिवासी भील समाज की मांग:टंट्या मामा की प्रतिमा लगाएं ताकि लोग पहचानें कि वह कौन थे, उनके बलिदान से अवगत हों

बुरहानपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आदिवासी समाज के युवा कलेक्ट्रेट कार्यालय पहुंचे। - Dainik Bhaskar
आदिवासी समाज के युवा कलेक्ट्रेट कार्यालय पहुंचे।

जननायक टंट्या मामा भील की प्रतिमाएं बुरहानपुर जिले में लगाई जाएं, ताकि लोग पहचानें कि वह कौन थे। हमारे समाज के लोग भी उनके बलिदान से अवगत हों। यह बात मंगलवार को जिले के आदिवासी भील समाज के युवाओं ने कही।

दरअसल, आदिवासी भील समाज सेवा समिति के युवाओं की ओर से मंगलवार को एक ज्ञापन कलेक्टर प्रवीण सिंह को सौंपा गया। जिसमें भील समाज के युवाओं ने मांग की कि कि जननायक टंट्या मामा की प्रतिमा बुरहानपुर के चौराहे पर लगाई जाए।

युवा बोले- इतने बढ़े कार्यक्रम कर रहे हैं तो प्रतिमा भी लगाएं
आदिवासी समाज के युवा कलेक्ट्रेट कार्यालय पहुंचे। युवाओं का कहना है कि जिस तरह बरहानपुर में जगह.जगह महापुरुषों की प्रतिमाएं लगी हुई है जो कि आने वाली पीढ़ी को प्रेरणा दे रही है उसी प्रकार हमारे जननायक टंट्या मामा की प्रतिमा बुरहानपुर के उत्कृष्ट विद्यालय के पास स्थित भैरव मंदिर के समीप लगाई जाए। ताकि आने वाली पीढ़ी प्रतिमा देखकर यह प्रेरणा ले कि हमारे समाज में भी जननायक थे। युवाओं ने कहा कि जब सरकार टंट्या मामा के लिए इतने कार्यक्रम आयोजित कर रही है तो बुरहानपुर में टंट्या मामा की प्रतिमा लगाए।

खबरें और भी हैं...