सहकारी समिति के पूर्व लिपिक ने फांसी लगाकर की आत्महत्या:परिजनों ने साथी कर्मचारियों पर लगाए आरोप, बोले- जान से मरने की देते थे धमकी

बुरहानपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मृतक भीका नीमा मर्दाने - Dainik Bhaskar
मृतक भीका नीमा मर्दाने

जिले के पातोंडा में सहकारी समिति पातोंडा के पूर्व लिपिक ने बुधवार सुबह फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मृतक के परिजनों ने कुछ लोगों पर करीब एक करोड़ के लेनदेन के मामले में जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया है। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर पंचनामा बनाया। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया।
पातोंडा में सुबह करीब 11.30 बजे भीका नीमा मर्दाने (49) ने अपने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। परिवार के मुताबिक मृतक पहले पातोंडा सहकारी सोसाइटी में ही लिपिक था, लेकिन 2009-10 में उस पर बैंक में पैसे लेनदेन का आरोप लगा और उसे काम से निकाल दिया। इसके बाद उसने गांव के कुछ लोगों के साथ मिलकर सहकारी बचत बैंक की स्थापना की। जिसमें करीब एक करोड़ के लेनदेन के हिसाब को लेकर साथी सदस्यों के साथ विवाद चल रहा था। बैंक फिलहाल बंद है। मृतक के भाई संतोष ने बताया कि उसके साथ संचालन मंडल में काम करने वाले साथी जान से मारने की धमकी दे रहे थे। जिसके कारण उसने आत्महत्या कर ली। परिवार ने जांच और कार्रवाई की मांग की है।

पुलिस ने पहुंचकर पंचनामा बनाया
सूचना मिलने पर दोपहर करीब 12 बजे लालबाग थाना पुलिस मौके पर पहुंचा और परिजन के बयान दर्ज किए। पंचनामा बनाकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। मामले की जांच की जा रही है।

खबरें और भी हैं...