पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अपराध:बच्चों को दुलारा, पत्नी से कहा- निंबोला से आता हूं, 19 घंटे बाद झांझर तालाब में मिला शव

बुरहानपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • रविवार शाम तक पुलिस, गोताखोर और होमगार्ड की टीम तलाशती रही शव

उसने बच्चों को चूमा। सिर पर हाथ फेरकर दुलारा। हंसी-मजाक की। पत्नी से कहा निंबोला से आता हूं। इसके बाद घर से बाइक लेकर निकला रमेश घर नहीं लौटा। 19 घंटे बाद आया तो उसका शव। बच्चों को दुलारते-पुचकारते किसी को भी अंदेशा नहीं था कि रमेश का शव ही अब घर आएगा। शव मिलने के बाद पूरे गांव में होली का त्योहार नहीं मना। हर तरफ मातम पसरा रहा। खंडवा जिले के राणाजी पिपलौद निवासी रमेश पिता अमृतलाल मोरे इन दिनों में हर साल चार महीने के लिए मगरूल स्थित अपने ससुराल आता था। पेशे से ड्राइवर 32 साल के रमेश को यहां चार महीने तक अच्छा काम मिल जाता था। इस साल भी वह चार महीने से ससुराल में ही था। शनिवार सुबह 11 बजे रमेश हमेशा की तरह सामान्य था। वह तैयार हुआ और चार साल की बेटी अंजली, दो साल की वैष्णवी तथा एक साल के बेटे सौरभ को चूमा-दुलारा। उनके साथ हंसी-मजाक की। जाते-जाते पत्नी सुरेखाबाई से मुस्करा कर बोला मैं निंबोला से आता हूं। इसके बाद बाइक लेकर निकल गया।

बकरी चराने वालों ने तालाब किनारे बाइक देख सरपंच पति को दी सूचना
शनिवार शाम 6 बजे बकरी चराने वालों ने रमेश की बाइक झांझर तालाब किनारे खड़ी देखी। उन्हें आसपास कोई नजर नहीं आया तो संदेह हुआ। मगरूल के सरपंच पति राजू चारण को इसकी सूचना दी। राजू ने पुलिस को खबर की। पुलिस मौके पर पहुंची और स्थानीय गोताखोरों की मदद से तालाब में रमेश को तलाशा लेकिन अंधेरा होने के कारण इसमें खासी दिक्कत हुई। इसके बाद रविवार सुबह 9 बजे पुलिस और बुरहानपुर से आई 15 होमगार्ड गोताखोरों की टीम तालाब पहुंची। तालाब में उतरकर रमेश की तलाश की। बोट से पानी में भंवर बनाए, ताकि हिलोरों से शव बाहर आ जाए। शाम 6.15 बजे बोट में सवार राजू चारण ने पानी में सिर देखा और जवानों को बताया। इसके बाद रमेश का शव निकाला जा सका।

हंसमुख था रमेश, उसके साथ क्या हुआ किसी को पता नहीं
तालाब में शव मिलने की खबर मिलते ही रमेश के परिवार सहित गांव में मातम पसर गया। पुलिस ने पिपलौद में उसके परिजन को सूचना दी। वहां से उसके माता-पिता और मगरूल से भी रिश्तेदार मौके पर पहुंचे। सभी ने कहा रमेश व्यावहारिक और हंसमुख स्वभाव का था। घर से भी हंसते-मुस्कराते निकला था। इसके बाद उसके साथ क्या हुआ किसी को पता नहीं। पुलिस मर्ग कायम कर मामले की जांच कर रही है। अभी परिजन के बयान नहीं लिए हैं। जिला अस्पताल में सोमवार को उसके शव का पोस्टमार्टम होगा।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- सकारात्मक बने रहने के लिए कुछ धार्मिक और आध्यात्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करना उचित रहेगा। घर के रखरखाव तथा साफ-सफाई संबंधी कार्यों में भी व्यस्तता रहेगी। किसी विशेष लक्ष्य को हासिल करने ...

    और पढ़ें