पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

अनदेखी:पिछले सप्ताह जान गंवा चुके दो बालक, यहां अब भी झरने में 10 से 15 फीट ऊंचाई तक छलांग लगा रहे लोग

बुरहानपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बादलखोरा, जम्बुपानी, बसाली, ठाठर व बलड़ी में रविवार को लॉकडाउन के दिन भी लग रही भीड़

सतपुड़ा के जंगल में 100 फीट तक की ऊंचाई से गिरते झरनों में युवा मस्ती कर रहे हैं। झरनों के गिरते पानी में फिसलन भरी पथरीली पहाड़ियों से पानी में कूदने की होड़ मच गई है। पिछले सप्ताह ऐसे ही दो बालक अपनी जान गंवा चुके हैं। उसके बाद भी शहर के युवा सबक नहीं ले रहे हैं। चार सप्ताह पहले तक जंगलों और झरनों तक बहुत कम लोग पहुंच रहे थे। चार सप्ताह पहले रविवार का साप्ताहिक लॉकडाउन शुरू हुआ था। पहले रविवार को पूरे जिलेभर में सभी प्रतिष्ठान बंद रहे। हालांकि पहले की तरह सड़कों पर पुलिस की सख्ती नहीं दिखी। कुछ-कुछ जगह दोपहर तक पुलिस रोक-टोक करती रही। दूसरे सप्ताह दोपहर बाद से पुलिस कम ही नजर आई। ऐसे में हिम्मत खुली तो लोग जंगल की ओर रूख करने लगे। पिछले रविवार से जंगलों में शहर से भीड़ उमड़ रही है। इस रविवार बादलखोरा में 300 से ज्यादा लोग पहुंचे। गिरते झरने के नीचे सैकड़ों युवक घंटों मस्ती करते रहे। कुछ में गिरते झरने के बीच से पहाड़ी पर चढ़ने की होड़ मची। 10 से 15 फीट ऊंचाई तक छलांग लगा रहे थे। बरसाती झरना होने से यहां कभी भी पानी बढ़ सकता है। यहां पहुंचने का रास्ता भी पथरीली नदी से गुजरता है। ऐसे में किसी भी दिन बड़ा हादसा हो सकता है।

लोगों को लुभा रहे ऊंची पहाड़ियों से गिरते झरने
खकनार क्षेत्र के ग्राम चिल्लारा में बादलखोरा, शाहपुर क्षेत्र के भावसा से आगे जम्बुपानी, निंबोला क्षेत्र के ठाटर, बलड़ी व धुलकोट क्षेत्र के बसाली में बारिश से झरने निकल आए हैं। छोटी-बड़ी नदी-नालों से जंगलों में झरने बन गए हैं। यहां के गांव तक दो और चारपहिया वाहन आसानी से पहुंच रहे हैं। बादलखोरा, जम्बुपानी के झरनों तक पैदल पथरीले रास्तों से पहुंच रहे हैं।
सामान्य दिनों की तरह लोग घरों से बाहर निकले
रविवार को लॉकडाउन के तहत जिलेभर के प्रतिष्ठान बंद रहे। दोपहर तक चौराहों पर पुलिस नजर आई। 3 बजे के बाद कुछ ही चौराहों पर जवान दिखे। शेष चौराहों पर कहीं पुलिस नहीं थी। सामान्य दिनों की तरह ही लोग रविवार को भी घरों से बाहर निकले। पुलिस की रोक-टोक नहीं होने से शहर के बाहर भी गए।

इन्हें पर्यटन क्षेत्र के रूप में विकसित करने की योजना
बादलखोरा, जम्बुपानी, ठाटर, बलड़ी, बसाली के जंगल और वॉटर फॉल को राज्य पर्यटन नीति के प्रोजेक्ट में शामिल किया गया है। हालांकि पहुंच मार्ग व्यवस्थित नहीं होने के कारण अब तक पर्यटन क्षेत्र के रूप में इन क्षेत्रों को विकसित नहीं किया जा सका है। राज्य पर्यटन विभाग और पुरातत्व समिति सदस्यों के समन्वय से इन क्षेत्रों को विकसित करने की योजना बनाई गई है। इसको लेकर राज्य पर्यटन विभाग को जिले से प्रस्ताव भी भेजा जा चुका है लेकिन इसके लिए पर्यटन विभाग से अभी तक बजट जारी नहीं हो पाया है।

लापरवाही से ये बालक गंवा चुके अपनी जान

  • पिछले सप्ताह रविवार के पहले लॉकडाउन में नदी और झरने में चार युवक बह गए थे। उनमें से दो बालकों की गहरे पानी में डूब जाने से मौत हो गई थी। अन्य दो युवकों को बचा लिया गया था।
  • महाजनापेठ का 16 वर्षीय बालक ईश्वर टोकने पर भी सतियारा घाट पर ताप्ती नदी में उतरा। गहरे पानी के भंवर में फंसने से डूबकर बह गया था। दूसरे दिन मोहना संगम के पास शव मिला था।
  • दूसरा मामला बसाली के एक झरने के पास हुआ था। इसमें बोरी क्षेत्र के तीन बालक झरने के तेज बहाव में बह गए थे। उनमें से ग्राम बोरी का 15 वर्षीय मोहम्मद आशीम की डूबने से मौत हो गई थी।

स्पाॅट्स चिह्नित करेंगे, चैकिंग पाइंट लगाकर रोकेंगे
^ऐसे स्पॉट्स चिह्नित करेंगे, जहां लोग घूमने पहुंच रहे हैं। वहां तक जाने वाले रूट पर चैकिंग पाइंट लगवाएंगे। लॉकडाउन में लोगों को घरों पर रहने के लिए प्रेरित करेंगे। -प्रवीणसिंह, कलेक्टर

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय की गति आपके पक्ष में रहेगी। सामाजिक दायरा बढ़ेगा। पिछले कुछ समय से चल रही किसी समस्या का समाधान मिलने से राहत मिलेगी। कोई बड़ा निवेश करने के लिए समय उत्तम है। नेगेटिव- परंतु दोपहर बाद परिस...

और पढ़ें