पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पोला पर्व:मैदान में दौड़ाए बैल, पूरणपोली का भोग लगाया, घरों में मिट्टी के बैलों काे पूजा

डोईफोडि़या13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कई गांवों में तोड़े तोरण, मंदिरों में पूजा-अर्चना के साथ देश की खुशहाली की कामना की
  • बैलों की 500 मीटर दौड़ ने भरा रोमांच, इनके साथ किसान भी सरपट भागे

पोला पर्व पर मातापुर में किसानों ने बैलों का शृंगार और पूजा-अर्चना कर अच्छी फसल की कामना की। उन्हें गांव में घूमा कर पूरणपोली का नैवैद्य खिलाया। पूजन के दौरान चीला, भजिया, ठेठरी और खुरमे का भोग लगाया। बैलों की 500 मीटर की दौड़ ने सभी को रोमांचित कर दिया। किसानों ने भी इनके साथ सरपट दौड़ लगाई। इसमें गांव के सभी बैल शामिल हुए। गांव पटेल टेकसिंह राठौड़ ने बताया कई पीढि़यों से पोला पर्व परंपरानुसार मनाया जा रहा है।

शाम 4 बजे से हुई दौड़ में गांव के सैकड़ों बैल शामिल हुए। गांव पटेल की तबीयत खराब होने पर उनके छोटे भाई बद्रीप्रसाद राठौड़ ने बैलों का पूजन किया। दौड़ में गोविंद राठौड़ की बैल जोड़ी ने प्रथम स्थान पाया। गुड्डू दरबार के बैल दूसरे और पवन अजमल राठौड़ के बैल तीसरे स्थान पर रहे। विजेताओं को पटेल द्वारा श्रीफल और पुरस्कार भेंट कर सम्मानित किया गया। इस दौरान कई ग्रामीण मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...