विरोध / पुतले की छीना-झपटी में कायर्कर्ता और पुलिस जवानों के हाथ झुलसे

Workers and police personnel scramble in effigy
X
Workers and police personnel scramble in effigy

  • खकनार में फूंका सीएम का पुतला, तहसीलदार को सौंपा ज्ञापन

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

खकनार. मंगलवार को काला दिवस मनाते हुए कांग्रेस ने खकनार में मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान का पुतला फूंका। इस दौरान पुतले की छीना-झपटी में कुछ कार्यकर्ता और पुलिस जवानों के हाथ भी झुलस गए। विधायक सुमित्रा कास्डेकर के नेतृत्व में कांग्रेसियों ने पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दाम और भारी-भरकम बिजली बिलों को लेकर विरोध दर्ज कराया।
कांग्रेस कार्यालय के सामने दोपहर 12 बजे नारेबाजी कर बिजली बिलों की होली जलाई गई। पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दाम और बिजली बिलों को लेकर राज्यपाल के नाम तहसीलदार वैद्यनाथ वासनिक को ज्ञापन सौंपा। प्रदेश सरकार पर विधायकों की खरीद-फरोख्त कर कांग्रेस की सरकार गिराने का आरोप लगाया। जलते पुतले को छुड़ाने के लिए पुलिस पहुंची। कार्यकर्ता और जवानों के बीच छीना-झपटी हुई। इसमें कुछ कार्यकर्ता और पुलिस जवानों के हाथ झुलस गए। इस दौरान युवक कांग्रेस महासचिव पवन लहासे, ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष अजय महाजन, राजू महाजन, गजानन पाठक, भास्कर महाजन सचिन मंडलकर और निलेश पासे सहित अन्य कार्यकर्ता मौजूद थे।

इधर... कांग्रेसियों ने भाजपा नेताओं के सामने फूंका पुतला

 नगर के आंबेडकर चौराहे पर मंगलवार दोपहर कांग्रेस ने पुतला दहन किया। पुतले पर किसी का नाम नहीं था। कांग्रेसी कहते रहे कि यह बिजली बिल, पेट्रोल, डीजल मूल्य वृद्धि का पुतला है। जबकि भाजपाईयों ने इसका विरोध किया। इस दौरान चौराहे पर भाजपा नेता भी मौजूद थे। उनके सहित पुलिस की मौजूदगी में अचानक पुतला फूंक दिया गया। पुतला दहन के बाद भाजपाईयों ने आक्रोश जताया। मौके पर मौजूद टीआई पीके मुवेल उन्हें काफी देर तक समझाते रहे, लेकिन भाजपा नेता और नगर पालिका अध्यक्ष राजेश चौहान ने कांग्रेसियों के खिलाफ केस दर्ज करने की मांग की।
पुतला दहन करने के दौरान कांग्रेसियों ने जमकर नारेबाजी भी की। नगर कांग्रेस अध्यक्ष सोहन सैनी ने कहा बार-बार पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ाए जा रहे हैं। चीन के मामले में 11 साल बाद भाजपा को याद आई कि कुछ गलत हुआ था। पूर्व केंद्रीय मंत्री कमलनाथ पर झूठे आरोप लगाए जा रहे हैं। प्रधानमंत्री का चीन को लेकर कभी कुछ बयान आता है, कभी कुछ। इन्हीं बातों को लेकर पुतला दहन किया गया। पुतले पर किसी का नाम नहीं था। हमने न तो धारा 144 का उल्लंघन किया और न ही सोशल डिस्टेंस तोड़ा। इस दौरान मंडलम अध्यक्ष जगमीतसिंह जॉली, युवक कांग्रेस अध्यक्ष अफसार खान, मोहम्मद रफीक, छोटेलाल तेलपुरे, गेंदलाल मौर्य, शांताराम ठाकरे और कैलाश पटेल सहित अन्य कार्यकर्ता मौजूद थे।
इसको लेकर भाजपा मंडल अध्यक्ष विक्रमसिंह चौहान ने कहा भाजपा की ओर से पुतला दहन को लेकर आक्रोश जताया गया। टीआई से पूछा कि अनुमति धरने की थी या पुतला दहन की। इस दौरान कांग्रेसियों ने नियम तोड़कर सोशल डिस्टेंस भी ध्यान नहीं रखा।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना