पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

हालात सुधरे:खालवा के लोगों ने स्वेच्छा से लगाया लॉकडाउन और सुधरने लगे हालात

खालवा2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
खालवा. सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में सन्नाटा। - Dainik Bhaskar
खालवा. सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में सन्नाटा।

सचिन तिवारी |

कुपोषण के लिए बदनाम खालवा ब्लॉक कोरोना के मामले में भी सबसे आगे निकल गया था। यहां 23 अप्रैल के पहले तक खालवा और सावलीखेड़ा में ही 8 दिनों में 20 लोगों की मौत हो गई थी। इनमें 6 लोग कोरोना पॉजिटिव थे। लेकिन इसके बाद यहां हालात सुधरने लगे। खालवा ब्लॉक में पॉजिटिव केस की संख्या भी 5 पर आ गई और यह पांचों मरीज अस्पताल में भर्ती हैं।

इस सप्ताह पूरे विकासखंड में मात्र चार-पांच मौतों की जानकारी मिली। प्रशासन की सजगता और खालवा व्यापारी संघ के स्वेच्छा से लॉकडाउन लगाने का निर्णय कोरोना की चेन तोड़ने में अहम साबित हुआ। ज्यादातर लोगों ने राशन खरीदकर रख लिया था।

किराना, दूध, सब्जी इत्यादि जरूरी वस्तुओं की दुकान सुबह शाम एक निश्चित समय पर खुलती है। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर भी मरीज नहीं के बराबर आ रहे हैं। दिनभर में पांच से छह मरीजों की कोविड जांच की जा रही है।

खरगोन व बुरहानपुर के लोग आ रहे थे खरीदी करने, इसलिए लगाया लॉकडाउन

बोरगांव बुजुर्ग, इंदौर-इच्छापुर हाईवे पर बोरगांव बुजुर्ग बसा होने के कारण बुरहानपुर और खरगोन जिले के लोग यहां आकर खरीदी कर रहे थे। जबकि इन जिलों में संक्रमण तेजी से बढ़ने के कारण वहां कोरोना कर्फ्यू था। हाइवे पर बसा होने के कारण यहां बड़ी संख्या में यात्री रुकते हैं।

बोरगांव बुजुर्ग में भी संक्रमण न फैले इसलिए ग्रामीणों ने बैठक कर स्वेच्छा से लॉकडाउन लगाने का निर्णय लिया। इसका परिणाम यह हुआ कि यहां संक्रमण की रोकथाम हो गई। यहां किराना दुकानें, मेडिकल, डेयरी, फल-सब्जी की दुकानें समय अनुसार चालू रखकर बाकी सभी दुकानें बंद रखी गई। इसके साथ ही ग्रामीणों ने कोरोना का अाने वाला बड़ा संकट टाल दिया।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- दिन सामान्य ही व्यतीत होगा। कोई भी काम करने से पहले उसके बारे में गहराई से जानकारी अवश्य लें। मुश्किल समय में किसी प्रभावशाली व्यक्ति की सलाह तथा सहयोग भी मिलेगा। समाज सेवी संस्थाओं के प्रति ...

    और पढ़ें