पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नलों में हरा गंदा पानी पहुंच रहा है:पांच माह से 17 लाख की पाइप लाइन अधूरी, सांगवी के ग्रामीणों ने निर्माण एजेंसी व अफसरों पर लापरवाही के आरोप लगाए

खरगोन16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
गंदे पानी के बीच नल लाइन को चालू करते हुए वाटरमैन। - Dainik Bhaskar
गंदे पानी के बीच नल लाइन को चालू करते हुए वाटरमैन।

ग्राम पंचायत सांगवी में नल जल योजना के तहत पांच माह पूर्व 17 लाख 69 हजार रुपए की पाइपलाइन व नल जल कनेक्शन के लिए स्वीकृत हुए थे। इसमें निर्माण एजेंसी ने गांव में खुदाई कर पाइप व अधूरे नल कनेक्शन कर काम बंद कर दिया है। इससे ग्राम में 16 चेंबर में से 10 चेंबर खुले हैं। इसमें गंदा पानी भरा रहता है।

वाटरमैन जगदीश मीणा ने बताया कि ठेकेदार की अनियमितता से खुले चेंबर का पानी पाइप लाइनों के माध्यम से घरों की पेयजल के लिए उपयोग किया जा रहा है। वहीं ग्राम के श्रीराम पाल, बलराम घोष ,सुभाष चौहान आदि ग्रामीणों ने बताय कि कई कनेक्शन नहीं दिए हैं। ठेकेदार की मनमानी करता है। ग्रामीण पेयजल के लिए तरस रहे हैं।

वहीं ग्राम में छह माह की समय अवधि के बाद भी ग्रामीण परेशान होते हो रहे हैं। ग्राम की गलियों के सीसी मार्ग को खोदकर रास्ते को खराब कर दिया है। ग्राम सांगवी के माता कॉलोनी के दिलीप, गुलसिग ने बताया कि पाइप लाइन खोदकर नल कनेक्शन देकर पेयजल टंकी के लिए गड्ढा खोदकर इतिश्री कर निर्माण एजेंसी गायब नजर आ रही है।

चेंबर में गंदा पानी से बीमारी फैलने की आशंका
आठ से दस चेंबर पांच माह से खुले होने से पानी हरा एवं कीड़ेयुक्त हो चुका है। यह पेयजल पाइप लाइन के माध्यम से घरों में पहुंच रहा है। बारिश का मौसम होने से बीमारियां फैलेंगी। ग्रामीणों ने खुले चैंबर, नए कनेक्शन और रास्तों को दुरस्त कराने की मांग की है

  • जहां लाइन नहीं वहां लाइन डलेगी। स्वीकृत कार्य जल्द कराए जाएंगे। ग्रामीणों को परेशान नहीं होने दिया जाएगा। -दीपकसिंह पचलैया, एसडीओ पीएचई कसरावद
खबरें और भी हैं...