पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

विरोध:आश्वासन पर 36 किसानों ने मंडी में बिताई रात, सुबह खरीदी से इनकार पर हंगामा

खरगोन2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कुछ ने व्यापारियों को कपास बेचा तो कुछ घर ले गए, सीसीआई केंद्र प्रभारी बोले- जगह नहीं है

पूरी रात ठंड में ठिठुरते हुए बिताने के बाद सुबह सीसीआई ने कपास खरीदी से इनकार करने पर किसानों ने हंगामा किया। किसानों ने खरीदी केंद्र प्रभारी को खरी-खोटी सुनाई। इसके बाद कुछ किसान उपज घर ले गए तो कुछ ने व्यापारियों को बेचा। उन्होंने कहा- खरीदी नहीं करना थी तो बुधवार शाम को आश्वासन क्याें दिया गया। वहीं खरीदी केंद्र प्रभारी का कहना है कपास रखने की जगह नहीं होने से खरीदी रोकी है। आगामी 6 दिन खरीदी नहीं की जाएगी। इसको लेकर पहले ही सूचना दे दी थी। किसान नारायण यादव गवला, जगदीश पटेल कांकरियाव, राजेश गुर्जर खामखेड़ा आदि ने बताया वे बुधवार को मंडी में कपास लेकर आए थे। नीलामी में 36 वाहन बाकी रह गए। खरीदी केंद्र प्रभारी से नीलामी के लिए कहा तो उन्होंने समय समाप्त होने की बात कही। साथ ही उन्होंने व मंडी कर्मचारियों ने गुरुवार सुबह 11 बजे वाहनों का कपास खरीदने का आश्वासन दिया। कपास बिक्री की उम्मीद में पूरी रात ठंड में ठिठुरते हुए बिताई लेकिन अब सीसीआई केंद्र प्रभारी का कहना है इंदौर व भीलगांव-साटकुर मार्ग स्थित जिनिंग में कपास रखने की जगह नहीं है। इसलिए यहां 2 दिसंबर तक खरीदी नहीं हो पाएगी। महेश्वर में खरीदी चल रही है और जगह भी है, वहां चले जाएं। इस पर किसान भड़क गए।

किसानों ने कहा- तय हो रोज कितनी खरीदी होगी
किसान प्रताप पटेल खामखेड़ा, चंपालाल रणगांव, काशीराम रणगांव आदि ने कहा जब उपज नहीं खरीदना थी तो आश्वासन क्यों दिया। अब ऐसी स्थिति में किराया-खर्च लगाकर महेश्वर जाएं और वहां पर भी नंबर नहीं लगा तो तीसरे दिन तक रुकना पड़ेगा। खेती का काम छोड़कर आए है। फसल प्रभावित होगी उसका नुकसान भी उठाना पड़ेगा। किसानों ने कहा सीसीआई रोजाना कितनी खरीदी करेगी यह सुनिश्चित करना चाहिए ताकि परेशान ना होना पड़े। किसानों ने आरोप लगाया कि सीसीआई का रुझान व्यापारियों का कपास खरीदने को लेकर अधिक रहता है। इस स्थिति में कई किसान कपास के वाहन वापस घर ले गए। कुछ ने व्यापारियों को उपज बेची।

जनप्रतिनिधि बोले- भेदभाव करना गलत है
जनप्रतिनिधि अनिल यादव व इंदरसिंह राठौर ने कहा- प्रकृति के साथ नहीं देने से पहले किसान आर्थिक रूप से परेशान है। कृषि उपज मंडी में कपास खरीदी करने वाली एजेंसी के किसानों से भेदभाव करने की शिकायतें मिल रही है। 36 किसानों को रातभर परिसर में रखने के बाद सुबह खरीदी से इनकार करना गलत है। किसानों का समय खराब कर उन्हें परेशान न किया जाए।
अवकाश की सूचना पहले ही दी थी
^अब तक 32665 क्विंटल कपास खरीदा है। दोनों जिनिंग में कपास रखने की जगह नहीं होने से खरीदी नहीं की। इसकी सूचना पहले ही दे दी थी। महेश्वर सेंटर से चर्चा के बाद किसानों को वहां जाने के लिए कहा। किसानों से किसी प्रकार का भेदभाव नहीं किया जा रहा है।
अजीत मिश्रा, सीसीआई खरीदी केंद्र प्रभारी

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आप में काम करने की इच्छा शक्ति कम होगी, परंतु फिर भी जरूरी कामकाज आप समय पर पूरे कर लेंगे। किसी मांगलिक कार्य संबंधी व्यवस्था में आप व्यस्त रह सकते हैं। आपकी छवि में निखार आएगा। आप अपने अच...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser