पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

स्वास्थ्य विभाग:किठुद में मिले डेंगू के 4 संभावित मरीज, स्वास्थ्य विभाग सतर्क, पहुंची टीम

खरगोन8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • दो दिन में 181 घरों में 832 कंटेनरों की जांच, 28 घरों में मिला लार्वा किया नष्ट

नगर से 8 किमी दूर ग्राम किठूद व हमीरपुरा में डेंगू के 4 संभावित मरीज मिले हैं। इस पर स्वास्थ्य विभाग हरकत में आ गया है। दो दिन में 181 घरों के 832 कंटेनर की जांच की गई। जिसमें से 28 घरों के कंटेनर में लार्वा मिला है। उसे टोमोफास दवा से नष्ट कर कंटेनर खाली कराए गए। विभाग को गांव के जिन चार संभावित मरीजों की जानकारी मिली थी, उनके घर पर लार्वा नहीं मिला है। गांव के 22 लोगों की रक्त पत्तियां बना कर जांच के लिए भेजी गई। बुधवार को एसडीएम प्रवीण फुलपगारे सुबह करीब 10 बजे गांव पहुंचे। यहां उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे डोर टू डोर लार्वा सर्वे करें। जिन घरों में डेंगू के संभावित मरीज मिले हैं, उनके घरों के आसपास पांच-पांच घरों में रक्त स्लाइड बनाई जाए। एसडीएम ने कहा- स्थिति नियंत्रण में हैं। 4 मरीजों की रिकवरी हुई है। घरों के आसपास दवा व पावडर के छिड़काव के भी निर्देश दिए है। ग्राम हमीरपुरा व किठूद में सोमवार को डेंगू के 4 संभावित केस की जानकारी जनपद सदस्य ब्रजेश यादव को मिली थी। उन्होंने कलेक्टर अनुग्रहा पी, बड़वाह एसडीएम, बीएमओ अनुज कारखुर से ग्रामीण क्षेत्रों में डेंगू के मरीजों की संख्या बढ़ने को लेकर चर्चा की थी। एसडीएम प्रवीण फुलपगारे के निर्देश पर स्वास्थ विभाग की टीम ने गांव पहुंच कर लार्वा सर्वे किया। इस दौरान डेंगू-मलेरिया लार्वा निरीक्षण टीम में नितेश कौशल, मलेरिया निरीक्षक उस्मान पठान, सुपरवाइजर संतोष पटेल, एएनएम उर्मी मंडलोई, आशा कार्यकर्ता विद्या शर्मा, सुनीता शर्मा, जनपद सदस्य ब्रजेश यादव मौजूद थे।

दोनों गांव के 317 घरों में होगा लार्वा सर्वे
स्वास्थ्य विभाग के अनुसार 160 हमीरपुरा व 157 किठुद में घर है। मलेरिया निरिक्षण उस्मान पठान ने बताया एक किठुद व तीन हमीरपुरा के रहवासियों में डेंगू के संभावित लक्षण मिले हैं। अब वह स्वास्थ्य होकर घर भी लौट गए है। दो दिन में ग्राम हमीरपुरा में 109 व किठुद में 72 घरों में पहुंच कर लार्वा सर्वे किया। शेष 136 घरों में गुरुवार पहुंच कर लार्वा सर्वे किया जाएगा। उन्होंने कहा स्वास्थ्य विभाग की टीम लार्वा सर्वे में लगी हुई है लेकिन लोग खुद डेंगू के लार्वा को नष्ट करने के लिए जागरूक हो। घर की छत और आसपास गंदा पानी जमा न होने दे। जमा पानी में खाने का तेल डालें। जिससे उसमें लार्वा न पनप सके। यदि कहीं लार्वा मिलता है तो तुरंत स्वास्थ्य विभाग टीम से संपर्क कर टेमीफॉस का छिड़काव कराए। घरों में मच्छरदानी का उपयोग करें और बच्चों को पूरी आस्तीन के कपड़े पहनाए।

खबरें और भी हैं...