पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सांसें जुटाने में फूली सांस:4 घंटे धूप में इंतजार करने के बाद मिले 45 ऑक्सीजन सिलेंडर, 4 खाली निकले

खरगोन14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
धूप में बैठ सिलेंडर वाहन का इंतजार करना पड़ा। - Dainik Bhaskar
धूप में बैठ सिलेंडर वाहन का इंतजार करना पड़ा।
  • 6 बजे से कतार में लगे, 11 बजे पहुंचा ऑक्सीजन का वाहन

ये फोटो है जिला अस्पताल परिसर स्थित कोविड वार्ड के पास का। ये अपने परिजन के लिए सांसें जुटाने आए हैं। शनिवार रात को टोकन बंटे। सुबह 6 बजे कोविड मरीजों के लिए परिजन ऑक्सीजन सिलेंडर लेने कतार में लगे। भीड़ बढ़ी। पुलिस व अस्पतालकर्मियों ने वार्ड के बाहर कतार लगाने को खदेड़ा। बेबसी ऐसी कि रुमाल व गमछों की छांव कर ऑक्सीजन वाहन आने का इंतजार किया।

11 बजे पिकअप वाहन में करीब 45 सिलेंडर पहुंचे। आईसीयू वार्ड के लिए 15 सिलेंडर अलग किए गए। सिलेंडर परिजन को फटाफट दे दिए गए। 4 सिलेंडर खाली निकले। अस्पताल प्रशासन का मानना है लीकेज होने से यह स्थिति बनी है। परिसर में ही जंबो सिलेंडर की ऑक्सीजन को छोटे सिलेंडर में रिफिल करने की व्यवस्था भी शुरू कराई। हालांकि आईसीयू तक वार्डबॉय व कोविड वार्ड तक परिजन ही सिलेंडर लेकर गए।

181 पर शिकायत करने के बाद लगा पोंछा

जिला अस्पताल में सफाई व्यवस्था ठेके पर है। लोगों को शिकायत है कर्मचारी ठीक से काम नहीं करते हैं। मरीजों के परिजनों के अनुसार पिछले एक सप्ताह से प्रायवेट वार्ड में पोंछा नहीं लगा है। कर्मचारी दोनों पलंग के बीच ऊपरी ताैर पर सफाई कर लाैट जाते हैं। पोछा लगाने को कहते हैं तो अगले दिन सफाई की बात कही जाती है। पलंग के नीचे भी कचरा पड़ा रहता है। परिजन के मुताबिक रविवार को 181 पर शिकायत के बाद प्रायवेट वार्ड में पोंछा लगाया गया।

परिसर में ही जंबो सिलेंडर की ऑक्सीजन को छोटे सिलेंडर में रिफिल करने की व्यवस्था भी शुरू

ऑक्सीजन सेचुरेशन 65 फिर भी मरीज को पकड़ाया खाली सिलेंडर

बिस्टान के दीपक सोनी ने बताया करीब 5 घंटे कतार में रहकर इंतजार किया। इसके बाद छोटा सिलेंडर मिला। पिता का ऑक्सीजन सेचुरेशन 65 होने से 24 घंटे ऑक्सीजन जरूरी है। सिलेंडर लाकर लगाया तो खाली निकला। पड़ोसी भर्ती मिश्रीलाल मालवीया के पास रखे सिलेंडर को लगाकर राहत दी। उन्होंने कहा ऑक्सीजन सिलेंडर के सदुपयोग के लिए रिफिलिंग व्यवस्था अच्छी है। लेकिन गंभीर मरीजों को जंबो सिलेंडर ही देना चाहिए।

प्लांट को एक्सप्रेस लाइन से जोड़ने डाली केबल

जिला अस्पताल परिसर में ऑक्सीजन प्लांट का निर्माण जारी है। मशीनें आते ही ऑक्सीजन उत्पादन शुरू होने के उम्मीद है। प्लांट को अस्पताल की एक्सप्रेस लाइन से जोड़ा जाएगा ताकि सप्लाय लगातार जारी रहे। रविवार को यहां केबल डाली गई। 1 करोड़ 79 लाख रुपए का प्लांट बनने के बाद कोविड आईसीयू, एचडीयू व प्रायवेट वार्डों के 61 बिस्तरों तक ऑक्सीजन का सप्लाय शुरू हो जाएगा। इसके अलावा ऑक्सीजन सपोर्टेड 50 बेड की व्यवस्था के लिए भी अस्पताल में लाइन डाली जा रही है।

व्यवस्था में सुधार जारी है

4 सिलेंडर आगे से ही खाली मिले थे। संभवत: रिफिलिंग के समय लीकेज हुआ होगा। तत्काल बदलवा लेना चाहिए था। वार्डबॉय की कमी से थोड़ी परेशानी आ रही थी। अब दिक्कत नहीं होगी। सफाई व्यवस्था भी दुरुस्त करवाएंगे।
- डॉ. दिलीप सेप्टा, आरएमओ

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आर्थिक स्थिति में सुधार लाने के लिए आप अपने प्रयासों में कुछ परिवर्तन लाएंगे और इसमें आपको कामयाबी भी मिलेगी। कुछ समय घर में बागवानी करने तथा बच्चों के साथ व्यतीत करने से मानसिक सुकून मिलेगा...

    और पढ़ें