पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अहिल्याबाई की 226वीं पुण्यतिथि:अहिल्या माता घोड़े पर सवार हुईं, लोगों ने आशीर्वाद लिया

खरगोन14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
शहर के मुख्य मार्गों से पालकी यात्रा निकाली गई। - Dainik Bhaskar
शहर के मुख्य मार्गों से पालकी यात्रा निकाली गई।
  • अहिल्योत्सव कमेटी ने 79वें वर्ष निकाली पारंपरिक यात्रा, लोगों ने जयकारे लगाए

शहर में सोमवार को मातोश्री देवी अहिल्याबाई होलकर की 226 वीं पुण्यतिथि मनाई गई। अहिल्योउत्सव कमेटी खरगोन ने भव्य पालकी यात्रा निकाली। शहर में मराठा समाज सहित अन्य समाज के लोग 79 साल से निकाल रहे हैं। अहिल्योत्वस कमेटी के पदाधिकारियों ने बताया कि 1942 से उत्कृष्ट स्कूल से पालकी यात्रा निकाली जा रही है।

मातोश्री देवी अहिल्याबाई का उत्कृष्ट विद्यालय में पूजन अर्चना कर पालकी में बैठाया। इसके बाद पालकी शहर के मुख्य मार्गों से निकाली। पालकी पोस्ट ऑफिस, सराफा बाजार, झंडा चोक, सिद्धनाथ मंदिर होकर कुंदा नदी तट स्थित महाकाल मंदिर पहुंची। इस दौरान अहिल्याबाई के जयकारे लगाए।

आरती कर पालकी यात्रा का समापन किया गया। यात्रा में पूर्व राज्यमंत्री बालकृष्ण पाटीदार, बाबूलाल महाजन, नपाध्यक्ष विपिन गौर, रणजीतसिंह डंडीर, उत्कृष्ट विद्यालय की प्राचार्य मीरा रखोलिया सहित कमेटी अध्यक्ष आदि मौजूद थे। पालकी यात्रा में सबसे आगे घोड़े पर सवार अहिल्या माता बनी खुशबू वर्मा बैठी थी। बैंड बाजे के साथ हिल्या माता की झांकी चल रही थी। इस दौरान कई जगह मातोश्री का स्वागत कर लोगों ने आशीर्वाद लिया।

खबरें और भी हैं...