• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Khandwa
  • Khargone
  • Babu Of The Collectorate Pleaded For Injection, Son in law Admitted To District Hospital For One Week, Condition In ICU Critical

एसपी को शिकायत:कलेक्टोरेट के बाबू ने लगाई इंजेक्शन की गुहार, एक सप्ताह से जिला अस्पताल में दामाद भर्ती, आईसीयू में हालत गंभीर

​​​​​​​खरगोन6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

गुरुवार को कलेक्टोरेट में पदस्थ सहायक ग्रेड 2 (बाबू) रामचंद्र शिंदे ने जिला अस्पताल में भर्ती दामाद के लिए इंजेक्शन की गुहार लगाई है। उन्होंने एसपी शैलेंद्रसिंह चौहान को की शिकायत में कहा- यदि दामाद को कुछ हुआ तो इसके जिम्मेदार स्वास्थ्य विभाग और रेमडेसिविर इंजेक्शन व ऑक्सीजन से जुड़े अफसर होंगे।

शिंदे ने बताया दामाद अरविंद पिता हरिराम को 22 अप्रैल को जिला अस्पताल में भर्ती कराया था। रातभर किसी भी डॉक्टर ने इलाज नहीं किया। अगले दिन अपर कलेक्टर बीएस सोलंकी को समस्या बताई।

उन्होंने 23 अप्रैल की सुबह 9 बजे स्वास्थ्य विभाग के अफसरों को इलाज करने को कहा। एक इंजेक्शन लगाया। अगले दिन इलाज नहीं मिला तो निजी अस्पताल ले गए। जांच के बाद ऑक्सीजन लेवल कम बताकर वापस जिला अस्पताल रैफर कर दिया। 27 को सिटी स्कैन करवाया। डॉ. लखन पाटीदार ने इलाज किया। मेडिकल से दवाइयां खरीदी, लेकिन रेमडेसिविर इंजेक्शन नहीं मिला। जिला अस्पताल में भी इंजेक्शन नहीं दिया गया।

तबीयत बिगड़ने पर आईसीयू में भर्ती किया

इंजेक्शन नहीं लगने से तबीयत बिगड़ी तो डॉक्टरों ने दामाद को आईसीयू में भर्ती किया। यहां भी इंजेक्शन नहीं लगाया गया। उन्होंने आरोप लगाया 28 अप्रैल को सिविल सर्जन ने निजी अस्पताल स्थित मेडिकल दुकान से इंजेक्शन लाने को कहा। यहां 10 हजार रुपए देने को तैयार होने के बाद भी इंजेक्शन नहीं दिया। जबकि अन्य 5 लोगों को इंजेक्शन दिए गए। कलेक्टर से लेेकर अन्य अफसरों को जानकारी दी है।

मेडिकल स्टोर्स पर रेमडेसिविर इंजेक्शन उपलब्ध नहीं है। यह जिला व निजी अस्पताल में भर्ती मरीजों को ही दिए जा रहे है। इसका बकायदा रिकार्ड भी रखा जा रहा है। इलाज में कोई लापरवाही हुई तो जांच की जाएगी।
-डॉ. चेतन पठौते, प्रभारी सीएमएचओ

खबरें और भी हैं...