हादसा / जंगल में लकड़ी काटने गए ग्रामीण पर रीछ ने किया हमला, पूरा चेहरा नोचने से मौके पर मौत

X

  • महाराष्ट्र-मप्र बॉर्डर पर तीन दिन पहले की घटना, जीपीएस ट्रेकिंग के बाद स्थानीय वन विभाग को दी सूचना
  • मृतक महाराष्ट्र का निवासी, साथियों के साथ लकड़ी लेने गया था जंगल

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

खरगोन. महाराष्ट्र से लकड़ी काटने मप्र के जंगल में आए ग्रामीण पर रीछ ने हमला कर दिया। बुरी तरह चेहरा नोचने के कारण ग्रामीण ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। मौत के तीन दिन बाद वन विभाग को इसकी जानकारी मिली। महाराष्ट्र के वन विभाग ने जीपीएस ट्रेकिंग के बाद घटना की जानकारी बुरहानपुर के वन विभाग को दी।
19 मई की सुबह 10 बजे महाराष्ट्र के भाभा पिपरी निवासी रेमसिंह पिता डगरिया दो अन्य ग्रामीणों के साथ लकड़ी काटने जंगल में गया था। वह मूल रूप से खरगोन जिले के झिरन्या का रहने वाला है। पांच साल से वह महाराष्ट्र में रह रहा था। तीनों लकड़ी काटते हुए मप्र की सीमा में आ गए। यहां उन पर रीछ ने हमला कर दिया। दो ग्रामीण तो भाग निकले लेकिन रेमसिंह को रीछ ने दबोच लिया। चेहरा नोचने से बुरी तरह घायल रेमसिंह ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। साथ गए दोनों ग्रामीण दोपहर बाद वापस जंगल गए और शव को महाराष्ट्र के गांव ले गए। महाराष्ट्र वन विभाग ने शव का पोस्टमार्टम कराया।
जीपीएस ट्रेकिंग में पता चला जंगल इच्छापुर का है
शाहपुर क्षेत्र के रेंजर संजय मालवीय ने बताया घटना की जानकारी हमें 21 मई की दोपहर को मिली। महाराष्ट्र के वन विभाग ने इसकी कार्रवाई की थी लेकिन जीपीएस ट्रेकिंग की गई तो यह क्षेत्र इच्छापुर के जंगल का निकला। घटनास्थल बॉर्डर से आधा किमी अंदर था। वन विभाग को सूचना मिलने के बाद दल जांच करने गया था। मृतक का अंतिम संस्कार हो चुका है और उसका परिवार खरगोन जिले के अपने गांव गया है। उनके लौटने के बाद पूछताछ कर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना