पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अक्षय तृतीया:शादी में सिर्फ 10 लोगों की मंजूरी के कारण आधे हुए आवेदन

खरगोन10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जिले में 5 से ज्यादा समाज पहले ही विवाह समारोह निरस्त हुए हैं।  - Dainik Bhaskar
जिले में 5 से ज्यादा समाज पहले ही विवाह समारोह निरस्त हुए हैं। 
  • जिले में 5 से ज्यादा समाजों ने विवाह समारोह निरस्त किए, एकल विवाह होंगे

कोरोना संक्रमण में मई के शुभ मुहूर्तों में होने वाले 10 से ज्यादा शादी समारोह निरस्त हो गए हैं। ऐसा लगातार दूसरे साल हो रहा है। पिछले साल न सरकारी कन्यादान हुआ और न ही सामूहिक विवाह समारोह। हाल में शादी समारोह में वर-वधू पक्ष से 10-10 लोगों के ही शामिल होने की अनुमति होने की नई गाइडलाइन जारी की गई है। इससे एसडीएम ऑफिस परिसर में शादी की अनुमति के आवेदन की कतार आधी रह गई। जिले में 5 से ज्यादा समाज पहले ही विवाह समारोह निरस्त हुए हैं।

14 मई को अक्षय तृतीया पर अबूझ मुहूर्त में विवाह तो होंगे, लेकिन बंदिशें ज्यादा रहेंगी। अक्षय तृतीया में होने वाले सामूहिक विवाह भी नहीं होंगे और परशुराम जन्मोत्सव भी सादगी से मनाया जाएगा। ज्योतिषाचार्य पं. बसंत सोनी ने बताया कि साल में मांगलिक व शुभ कार्य के लिए कुछ अबूझ मुहूर्त होते है, उनमें अक्षय तृतीया प्रमुख है। इस दिन मांगलिक व किसी भी शुभ कार्य के लिए मुहूर्त देखने की आवश्यकता नहीं होती है। लेकिन कोरोना संक्रमण के कारण इस दिन बहुत कम मुहूर्त है, सामूहिक विवाह के तो आयोजन ही नहीं है।

फिलहाल लोग विवाह निरस्त करा रहे हैं। काेरोना की वजह से पिछले साल अक्षय तृतीया पर लॉकडाउन था। जिसके कारण इस अबूझ मुहूर्त में सामूहिक विवाह नहीं हुए थे। इस साल भी कोरोना संक्रमण की वजह से अक्षय तृतीया पर सामूहिक शादी समारोह नहीं होंगे।

50 आवेदन रोज आ रहे थे, अब घटने लगे

प्रशासन द्वारा एक या दो दिन पहले अनुमतियां जारी की जा रही है, वह भी केवल 10 लोगों की उपस्थिति में आयोजन के लिए। सामूहिक भोज या प्रीतिभोज और बारात भी नहीं निकाल सकते है। अप्रैल में 80-90 आवेदन रोज एसडीएम ऑफिस पहुंच रहे थे। लेकिन बंदिशें बढ़ने से आवेदन घटने लगे हैं। पिछले 2 दिनों से संख्या 25 के आसपास रह गई है।

5 से ज्यादा समाज के सम्मेलन निरस्त

संक्रमण काे देखते हुए सामूहिक विवाह के आयोजन भी नहीं होंगे। कुशवाह समाज, यादव समाज, कुनबी पटेल समाज, क्षत्रीय राजपूत समाज, रेवा गुर्जर हरसाल सामूहिक आयोजन करते हैं। यादव समाज के नरेंद्र यादव ने बताया बड़वानी में कार्यक्रम तय था, निरस्त कर दिया है। कुनबी समाज ने भी सामूहिक विवाह न करने का निर्णय लिया है।

शादी के लिए जुलाई तक के प्रमुख मुहूर्त

  • मई : 4, 7, 8, 13, 14, 21, 22, 23, 24, 26, 29, 30, 31
  • जून : 3, 4, 5, 6, 18, 19, 20, 21, 22, 24, 26, 27, 28, 30
  • जुलाई : 1, 2,, 3, 6, 7, 15, 18
खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - कुछ समय से चल रही किसी दुविधा और बेचैनी से आज राहत मिलेगी। आध्यात्मिक और धार्मिक गतिविधियों में कुछ समय व्यतीत करना आपको पॉजिटिव बनाएगा। कोई महत्वपूर्ण सूचना मिल सकती है इसीलिए किसी भी फोन क...

    और पढ़ें