पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पर्यटन बोर्ड की कवायद:लाड़वी में होम और मातमूर में फार्म स्टे की दिखी संभावना, रोजगार भी बढ़ेगा

खरगोन7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पर्यटन बोर्ड के दल ने केरियाखेड़ी में प्राचीन बावड़ी देखी। - Dainik Bhaskar
पर्यटन बोर्ड के दल ने केरियाखेड़ी में प्राचीन बावड़ी देखी।
  • मप्र पर्यटन बोर्ड डायरेक्टर ने कसरावद व महेश्वर के 5 किमी क्षेत्र में जानकारी जुटाई, स्टे सुविधा न होने से 4-5 घंटे में ही लौट रहे हैं पर्यटक

मप्र टूरिज्म बोर्ड का दल बुधवार को जिले के भ्रमण पर आया। महेश्वर व कसरावद क्षेत्र में 5 किलोमीटर के दायरे में आने वाले लाड़वी, मातमूर, केरियाखेड़ी, बोथू व नावड़ातौड़ी में पर्यटन की संभावनाएं देखी। पर्यटन बोर्ड का मानना है यहां पर्यटक महेश्वर का किला, सहस्रधारा, मंदिर आदि देखते हुए 4 से 5 घंटे में वापस लौट जाते हैं। स्टे की सुविधा होने पर यहां पर्यटक अधिक समय ठहर सकेंगे। मप्र टूरिज्म बोर्ड के डायरेक्टर डॉ. मनोज कुमार सिंह ने महेश्वर के आसपास के गांवों में दल के साथ पहुंचे।

सुरक्षा सहित अन्य व्यवस्थाओं की जुटा रहे जानकारी - डायरेक्टर सिंह
मप्र टूरिज्म बोर्ड के डायरेक्टर सिंह ने बताया पर्यटकों के बढ़ने से क्षेत्र में समय व ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को रोजगार से जोड़ने की संभावनाएं तलाशी जा रही है। पर्यटन बोर्ड के सलाहकार अमितसिंह, स्किल डेवलपर प्रशांत छिरोलिया व स्वाति प्रमर ने पर्यटकों से व्यवहार, बातचीत, महिला पर्यटकों की सुरक्षा आदि जानकारी जुटाई।

एक दल ने नावड़ातौड़ी व बोथू में होम स्टे के लिए ग्रामीणों को प्रेरित किया। एसडीएम मिलिंद ढोके व तहसीलदार विवेक सोनकर मौजूद रहे। गुरुवार कलेक्टर की मौजूदगी में नर्मदा रिट्रीट में बैठक होगी। इसमें दल की रिपोर्ट पर पर्यटन की संभावनाओं पर निर्णय लिए जाएंगे।

केरियाखेड़ी बावड़ी की सफाई करेंगे
लाड़वी के ग्रामीणों को पूर्व दिशा की ओर मकान बनाकर पर्यटकों के होम स्टे व मातमूर में फार्म स्टे को बढ़ावा देने पर चर्चा की। केरियाखेड़ी में प्राचीन बावड़ी काे देखा। महेश्वरी साड़ी निर्माता बुनकरों से भी मिले। बावड़ी के जीर्णोद्धार की दिशा में काम होगा। ट्रैकिंग, साइकलिंग आदि शुरू करने का भी विचार है।

जलकोटी में वाटर स्पोर्ट्स भी शामिल
पर्यटन विभाग के नोडल नीरज अमझरे ने बताया पर्यटन विभाग का 4 सदस्यीय दल गुरुवार को महेश्वर पहुंचेगा। यह जलकोटी के सहस्रधारा क्षेत्र में वाटर स्पोर्ट्स गतिविधि, फिल्म टूरिज्म आदि की संभावनाएं देखेगा। एडवेंचर वाॅटर स्पोर्ट्स इवेंट व प्रमोशन को लेकर चर्चा हुई।

खबरें और भी हैं...