पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रखरखाव में बेरहमी:आजादनगर में बिजली कंपनी ने 15 साल से लगे पेड़ों से पत्ते काट डाले, डालियां बची

खरगोन3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • रिकॉर्ड तोड़ गर्मी में पंछी को छाया नहीं, काटे 8 पेड़

आजादनगर के बगीचे में 15 साल पहले लगाए नीम के 8 पेड़ों की बिजली कंपनी के दस्ते ने ऐसे छंटाई की है कि अब ज्यादातर डालियां ही बची हैं। प्रदेश में सबसे ज्यादा 43 डिग्री के आसपास की गर्मी से हलाकान खरगोन में इस क्षेत्र के पंछियों की छाया छिन ली। लोगों ने प्लास्टिक के सकोरे टांग रखे थे, लेकिन पत्ते नहीं होने से घोंसले व सकोरे खुली धूप में आ गए। पंछियों को जगह छोड़ने को मजबूर होना पड़ा है। गुरुवार सुबह जब आसपास के लोग जगे तो आसपास नीम के पेड़ों 2 ट्रॉली टहनियां कटी फैली थी। क्षेत्र के लोगों ने कलेक्टर से शिकायत कर कार्रवाई की मांग की है। बिजली विभाग का कहना है कि रखरखाव टीम को तारों को छू रही टहनियों की छंटाई को कहा जाता है, बेरहम कटाई के लिए नहीं।

शहरभर में छंटाई नहीं हो रही कटाई

सनावद रोड व जैतापुर क्षेत्र में भी ऐसे ही पेड़ों की छंटाई की गई। लोग शौक से आसपास पौधे लगाकर बढ़ा करते हैं, लेकिन टहनियों की बजाय बेरहम तरीके पेड़ को आधा काट दिया जाता है। जिससे उसका सौंदर्य खत्म हो जाता है।

^ मेंटनेंस में बिजली के तारों को छू रही पेड़ों की टहनियों की ही छंटाई कराते हैं। ऐसा नहीं होना चाहिए।

- श्रीकांत बारस्कर, कार्यपालन यंत्री शहर

मोबाइल टॉवर के लिए की पेड़ों की छंटाई

क्षेत्र के मोहम्मद मुशर्रफ खान ने बताया क्षेत्र में जनसहयोग से पौधारोपण कर रखरखाव किया तब जाकर पेड़ बने। जागरूकता अभियान चलाने से कुछ लोगों ने पेड़ों पर प्लास्टिक के सकोरे टांग दिए। यहां से मोबाइल टॉवर के लिए उच्च दाब की लाइन जा रही है। पेड़ों की कुछ टहनियां अड़ रही थीं लेकिन ज्यादातर टहनियां बची हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप अपने काम को नया रूप देने के लिए ज्यादा रचनात्मक तरीके अपनाएंगे। इस समय शारीरिक रूप से भी स्वयं को बिल्कुल तंदुरुस्त महसूस करेंगे। अपने प्रियजनों की मुश्किल समय में उनकी मदद करना आपको सुखकर...

    और पढ़ें