पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

स्वास्थ्य शिविर:गंभीर मरीजों का इंदौर-भोपाल के डॉक्टर करेंगे इलाज

खरगोन6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 18 से कम आयु के गंभीर बच्चों का जिला मुख्यालय पर होगा इलाज

जिले की 10 जनपदों में इस माह 18 वर्ष से कम आयु के बच्चों के लिए स्वास्थ्य परीक्षण शिविर लगेंगे। जनपद के बाद गंभीर मरीजों के लिए 25 सितंबर को जिला स्तरीय स्वास्थ्य परीक्षण शिविर आयोजित होगा। इसमें गंभीर स्तर की बीमारियों से ग्रसित बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण होगा। इंदौर-भोपाल के निजी अस्पतालों के डॉक्टर परीक्षण करेंगे। आशा कार्यकर्ता व सहायिका, एएनएम, सीएचओ व सेक्टर सुपरवाइजर मिलकर ऐसे बच्चों को शिविर तक लाएंगे।

ब्लाक स्तर से मिलने वाली सूची के आधार पर 25 सितंबर को जिला स्तरीय स्वास्थ्य शिविर लगेगा। महिला एवं बाल विकास की कार्यक्रम अधिकारी रत्ना शर्मा ने बताया सांसद गजेंद्र सिंह पटेल की अध्यक्षता में जिला समन्वय एवं निगरानी समिति की बैठक में 16 से 20 सितंबर तक जनपद स्तर पर शिविर लगाने का निर्णय हुआ। इसके लिए स्थानीय स्तर पर महिला एवं बाल विकास विभाग, स्वास्थ्य विभाग के मैदानी कार्यकर्ता सीएचओ व सेक्टर सुपरवाइजर की नगरानी स्वास्थ्य शिविर के लिए बच्चों को चिन्हित कर रहे हैं।

शिविर में स्वास्थ्य विभाग के चाइल्ड स्पेशलिस्ट चिकित्सक शामिल होंगे। जिन बच्चों का इलाज स्थानीय स्तर पर संभव होगा उन्हें सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। इनके अलावा ऐसे बच्चे जिनका उपचार ब्लाक स्तर पर संभव नहीं है उन्हें जिला स्तर पर भेजने की जानकारी देनी होगी। तहसील स्तरीय 16 सितंबर को ऊन, सेगांव व कसरावद में शिविर लगेगा। 17 सितंबर को गोगावां, भीकनगांव में, 18 को महेश्वर व झिरन्या में, 20 को खरगोन शहरी, भगवानपुरा व बड़वाह में शिविर लगेंगे।

इन बच्चों का होगा परीक्षण व इलाज
स्वास्थ्य शिविर में जन्मजात विकृति जैसे हृदय रोग, बहरापन (0-5 वर्ष तक), कटे-फटे होट या तालू, आंखों को भैंगापन, मोतियाबिंद, टेड़े-मेड़े, मुड़े हुए पैर व अन्य विकृतियों से ग्रसित बच्चों को चिन्हित किया जा रहा है। शिविर लगने से पहले इनकी सूची तहसील भेजी जाएगी। बीएमओ, ओएमओ, आरबीएस के आयुष मेडिकल ऑफिसर गांव सेक्टर स्तर पर चिन्हित बच्चों की स्क्रीनिंग करेंगे।

इधर... जिले में लगेंगे 96 हजार 300 टीके, पहाड़ी क्षेत्र में बनाई रणनीति
पीएम नरेंद्र मोदी के जन्मदिन 17 सितंबर वैक्सीनेशन महाअभियान में जिले में 96 हजार 300 टीके लगाए जाएंगे। पहाड़ी क्षेत्र को लेकर रणनीति बनाई। भगवानपुरा बीएमओ डॉ. चेतन कलमे ने कहा कि सुबह 7 से 10 बजे तक टीकाकरण के लिए उपयुक्त समय होगा। 5 बजे तक टीके लगेंगे। सिरवेल, पिपलझोपा व देवनलिया के 40 गांवों में एक दिन पहले वैक्सीन व वैक्सीनेटर पहुंचेंगे। 4 वाहनों से दल रिमोट एरिया पहुंचेंगे। ब्लॉक में 60 सत्रों में 25 हजार टीके लगाना है। पंचायत सचिव, रोजगार सहायक व पटवारी गांवों तक पहुंचाने के साथ आंकड़े जुटाएंगे।

खबरें और भी हैं...