पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

किनारे पड़ा कचरा:बारिश में साटक नदी को करेगा प्रदूषित

बामंदीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • अनदेखी , ग्राम पंचायत की लापरवाही, हाट बाजार के कचरे व नालियों की सफाई नहीं

बारिश के पहले ग्राम पंचायत ने नालियों व नालों की सफाई नहीं की है। बाजार शेड के पास कचरा पड़ा है। पास ही साटक नदी होने के कारण कचरा बारिश में नदी में पहुंचेगा। इससे नदी प्रदूषित होगी। लोगों ने कहा कि ग्राम पंचायत की लापरवाही के कारण सफाई नहीं हो रही है। कचरे का करण नदी में भी जलकुंभी और अन्य तरह की घास होगी। साथ ही नदी का प्रवाह प्रभावित होगा। कई जगह गंदगी फैलेगी।

लोगों ने बताया कि हाट बाजार का कचरा साफ नहीं होता है। वह एक जगह एकत्रित किया जाता है। इससे लोगों को परेशानी होती है। नदी के बीचों-बीच ग्रामीणों की धार्मिक आस्था का केंद्र प्राचीन शिव मंदिर भी है। यहां रोजाना कई ग्रामीण पूजा करते हैं। कचरे व गंदगी के कारण मंदिर तक भी बदबू जाती है।

वही दूसरी ओर देशी शराब दुकान के सामने नाला है। वह भी कचरे से सटा पड़ा है। बारिश के पानी से वहां कचरे के कारण पानी रुक जाएगा। इसके चलते गंदा पानी आसपास के घरों व खेतों में पहुंचेगा। पानी के जमाव के कारण मच्छरों का भी प्रकोप बढ़ेगा। ग्रामीणों ने कई बार पंचायत को शिकायत की है, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हो रही है।

ग्राम पंचायत द्वारा कुछ समय पहले नालियों की सफाई कराई थी। बाजार शेड के पास कचरा डालने के लिए एक गड्ढा बनवाया है। लोग कचरे को गड्‌ढे में नहीं डालते हैं। जल्द ही सफाई होगी।
जाकिर खान, पंचायत सचिव

साटक नदी की सफाई जरूरी, बारिश में रहवासियों को खतरा
ग्रामीणों ने बताया कि साटक नदी साटक डेम से निकली है। नदी में झाड़ियां और कांटेदार पौधे लगे हैं। कोई इस ओर ध्यान नही दे रहा है। नदी के किनारे पर ही दो गांव बामंदी व बामंदा है। साथ ही नया नगर है। यहां करीब 50 से अधिक रहवासी मकान बिल्कुल नदी के किनारे पर ही बने हैं।

ज्यादा बारिश या बाढ़ के कारण लापरवाही सिद्ध हो सकती है। क्योंकि झाड़ियों के कारण पानी का प्रवाह रुक जाएगा और किनारों की ओर फैलेगा। यहां रहवासियों के लिए खतरा हो सकता है।

खबरें और भी हैं...