पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

प्रतियोगिता स्थल:पांच साल में नहीं बनी सड़क, पत्थरों से कांधे पर बोट उठाकर चलते हैं खिलाड़ी

खरगोन2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पिछले 5 साल से सहस्रधारा ट्रैक पर कैनो सलालम की स्पर्धाओं व शिविरों का आयोजन हो रहा है लेकिन अब तक यहां आवागमन के लिए रास्ता नहीं बनाया गया है। नगर के अहिल्या घाट से 3 किमी दूर सहस्रधारा तक नाव से जाना पड़ता है। इसके बाद नदी किनारे से प्रतियोगिता स्थल तक पहुंचने में लगभग आधा किलोमीटर का सफर उबड़-खाबड़ पत्थरों से पैदल तय करना पड़ता है।
सहस्रधारा के 250 मीटर ट्रैक पर बने 1 से 20 गेट तक बोट से पहुंचने के बाद खिलाड़ियों को भी यहीं परेशानी उठाना पड़ती है। जितना प्रयास खिलाड़ी स्पर्धा के दौरान बोट से आगे निकलने में करते हैं, उससे कहीं ज्यादा परेशानी उन्हें वापस नदी से बोट निकालकर ट्रैक के 1 नंबर गेट तक जाने में करना पड़ती है। पथरीली रास्ते से गुजरने के दौरान बोट भी कांधे पर उठाना पड़ती है। नदी किनारे से प्रतियोगिता स्थल तक 5 फीट चौड़े व 400 मीटर लंबे रास्ते के निर्माण की मांग लंबे समय से की जा रही है लेकिन अब तक काम शुरू नहीं हो पाया है। 2016 में चैंपियनशिप के दौरान तत्कालीन खेल मंत्री यशोधराराजे सिंधिया से भी मार्ग निर्माण की मांग की गई थी लेकिन समस्या जस की तस बनी हुई है। तीन दिन से यहां 8वीं नेशनल चैंपियनशिप जारी है। इस दौरान भी खिलाड़ियों व दर्शकों को परेशानी भोगना पड़ रही है। भारतीय कयाकिंग व कैनोइंग संघ सचिव प्रशांत कुशवाहा ने बताया स्थानीय प्रशासन यदि सहस्त्रधारा पर्यटन स्थल के आसपास सड़क की व्यवस्था करता है तो पर्यटन को भी बढ़ावा मिलने के साथ स्थानीय लोगों को रोजगार भी मिलेगा। खिलाड़ियों व टीम प्रबंधन के कर्मचारियों को भी आवागमन में सुविधा होगी।
खिलाड़ी व कोच बोले- सुविधाएं मिले
मप्र खेल एकेडमी के देवेंद्र गुप्ता व कयाकिंग केनोइंग संघ सचिव विक्रम यादव ने बताया नेशनल चैंपियनशिप में कसरावद तहसील के नावड़ातौड़ी, बोथू व महेश्वर तहसील के कई खिलाड़ी भाग ले रहे है। कुछ ने पदक भी जीते है। सुविधाएं मिले तो इन्हें प्रोत्साहन मिलेगा। कोच कुलदीपसिंह कीन ने बताया सहस्रधारा जैसा प्राकृतिक ट्रैक भारत में कहीं नहीं है। यहां देशभर के खिलाड़ी स्पर्धा में भाग लेने व तैयारी के लिए आते है। कोच व खिलाड़ियों ने कहा इसे देखते हुए सहस्रधारा तक पहुंच मार्ग बनाने के साथ सुविधाएं उपलब्ध करवाना चाहिए।
सुविधाएं उपलब्ध करवाने का प्रयास करेंगे
^सहस्रधारा प्राकृतिक ट्रैक का निरीक्षण किया है। कलेक्टर को अवगत करवाकर जल्द यहां सड़क निर्माण के साथ अन्य सुविधाएं उपलब्ध करवाने के प्रयास किए जाएंगे।
संघप्रिय, एसडीएम, कसरावद

बोथू से सहस्त्रधारा तक बने सड़क, संघ ने उठाई मांग
कसरावद | तहसील क्षेत्र में आने वाला सहस्रधारा नर्मदा किनारे स्थित बोथू गांव से लगा हुआ है। सहस्रधारा स्थल तक जाने के लिए अभिभाषक संघ ने बोथू से सड़क बनाने की मांग की है। संघ के पूर्व सचिव ब्रजेश कुमार व्यास व वरिष्ठ अधिवक्ता नवीन जोशी ने कहा यह प्राकृतिक ट्रैक तहसील के बोथू गांव के पास है। बोथू से सहस्रधारा तक मार्ग निर्माण कर सौंदर्यीकरण किया जाए। साथ ही खिलाड़ियों के लिए संसाधन उपलब्ध कराए जाए तो क्षेत्र के खिलाड़ी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर देश, प्रदेश व जिले का नाम रोशन कर सकते है। जोशी में सड़क निर्माण व खिलाड़ियों को संसाधन उपलब्ध कराने के लिए प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री, सांसद व विधायक को संघ की ओर से पत्र भी लिखा है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज जीवन में कोई अप्रत्याशित बदलाव आएगा। उसे स्वीकारना आपके लिए भाग्योदय दायक रहेगा। परिवार से संबंधित किसी महत्वपूर्ण मुद्दे पर विचार विमर्श में आपकी सलाह को विशेष सहमति दी जाएगी। नेगेटिव-...

    और पढ़ें