पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सनावद में समर्थन मूल्य पर खरीदी:किसानों को समय पर नहीं मिल रहे एसएमएस, खरीदी केंद्र पर पूछ रहे नहीं आने का कारण

खरगोन9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • किसान बोले- जल्द एसएमएस नहीं आया तो बाजार में बेचना हमारी मजबूरी होगी
  • केंद्र पर नहीं पहुंच रहे किसानों ने कहा- प्राकृतिक आपदा के कारण गड़बड़ाया फसल का उत्पादन

शासन द्वारा किसानों को लाभ पहुंचाने के लिए समर्थन मूल्य पर गेहूं व चने की खरीदी की जा रही है लेकिन किसानों को समय पर खरीदी केंद्र पहुंचने के लिए एसएमएस नहीं मिल पा रहे हैं, जिससे किसान खरीदी केंद्र जाने का इतजार कर रहे हैं। कई किसान एसएमएस नहीं पहुंचने पर किसान खरीदी केंद्र के चक्कर लगाकर एसएमएस नहीं आने का कारण पूछ रहे हैं।

जीजीखेड़ी के किसान राधेश्याम पटेल व भुवानीराम पटेल ने बताया हमने गेहूं बिक्री के लिए समर्थन मूल्य पर पंजीयन कराया है। हम गेहूं बिक्री के लिए तैयार हैं लेकिन हमारे पास केंद्र जाने के लिए एसएमएस नहीं आ रहा है। इससे हमें परेशानी आ रही है। अगर जल्द ही गेहूं खरीदी के लिए एसएमएस नहीं आया तो मजबूरी में बाजार में गेहूं बेचना पड़ेगा क्योंकि आगमी फसल लगाने के लिए हमें रुपए की आवश्यकता है। इसके लिए रोजाना खरीदी केंद्र के चक्कर भी लगा रहे हैं। इसी प्रकार हमीदपुरा के दो किसान भी केंद्र के चक्कर लगा रहे हैं।

अन्य किसान ने दी सूची में नाम होने की जानकारी
खोड़ी के किसान तेजसिंह पटेल ने बताया समर्थन मूल्य पर खरीदी के लिए 34 क्विंटल गेहूं का पंजीयन कराया था। इसके लिए अब तक एसएमएस नहीं आया है। अन्य किसान ने मुझे बताया कि 7 अप्रैल को गेहंू खरीदी के लिए तेरा नाम सूची में हैं। इसके बाद सोसायटी में संपर्क कर जानकारी ली। उन्होंने कहा आपका नाम सूची में हैं। आप केंद्र जाकर गेहूं दे सकते हैं। अगर अन्य किसान मुझे जानकारी नहीं देता तो मैं एसएमएस आने का इंतजार ही करता रहता। इसके बाद मजबूरी में कम दाम में गेहूं बेचना पड़ता।

शासन से जारी होते हैं एसएमएस, किसानों की मिलती है सूची
समर्थन मूल्य खरीदी केंद्र के प्रभारियों ने बताया किसानों को एसएमएस शासन स्तर से आते हैं। इसके अतिरिक्ति हमारे पास भी एक सूची अाती है। जिसके अनुसार किसानों से संपर्क कर उन्हें केंद्र पर आने की जानकारी दी जाती है। ताकि किसानों को केंद्र पर गेहूं व चना लेकर पहुंचने के लिए बुलाया जा सके।

किसानों ने कहा- कम हुआ गेहूं का उत्पादन
रोजाना गेहूं व चने की खरीदी के लिए किसानों को बुलाया जा रहा है लेकिन खरीदी केंद्र पर पूरे जिले में किसान कम संख्या में पहुंच रहे हैं। किसानों ने बताया रकबे के हिसाब से गेहूं व चने का पंजीयन कराया था लेकिन इस बार गेहूं व चने की फसल पर दो बार प्राकृतिक आपदा (मावठा) आने के कारण किसानों की फसल को नुकसान हुआ है। इससे गेहूं का उत्पादन भी कम हुआ है। इस कारण किसान कम गेहूं लेकर पहुंचने के बदले बाजार में व्यापारियों को गेहूं बेच रहे हैं। किसानों को दोगुनी हानि हो रही है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आपका संतुलित तथा सकारात्मक व्यवहार आपको किसी भी शुभ-अशुभ स्थिति में उचित सामंजस्य बनाकर रखने में मदद करेगा। स्थान परिवर्तन संबंधी योजनाओं को मूर्तरूप देने के लिए समय अनुकूल है। नेगेटिव - इस...

    और पढ़ें