पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अपर कलेक्टर ने निर्देश दिए:25 पंचायतों के 60 से ज्यादा गांवों में होगा सर्वे

खरगोन4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पंधानिया के किसान की आत्महत्या के बाद प्रशासन सतर्क

खरगोन तहसील के पंधानिया के किसान जितेंद्र पाटीदार (37) की आत्महत्या के मामले के बाद प्रशासन अब सतर्क हुआ है। क्षेत्र के कम बारिश वाले 25 पंचायतों के 60 से ज्यादा गांवों में फसलों का सर्वे कराया जाएगा। किसान की मौत के मामले में मेनगांव पुलिस ने मर्ग कायम किया है। किसान की आत्महत्या के कारणों की एसडीओपी रोहितसिंह अलावा जांच कर रहे हैं। यहां कम बारिश के अलावा हाल की तेज बारिश में फसलों को नुकसानी हुई है। इस संबंध में अपर कलेक्टर बीएस सोलंकी ने आदेश जारी किए हैं। तहसीलदार, कृषि विभाग व उद्यानिकी विभाग को इस संबंध में दल बनाकर सर्वे कर रिपोर्ट देने को कहा गया है।

नुकसानी इसलिए... ढाई महीने सूखे जैसे रहे हालात, एक सप्ताह से तेज हो रही बारिश
जिले में वर्षाकाल के ढाई माह में सूखे जैसे हालात रहे हैं। खरगोन, भीकनगांव, गोगावां, सेगांव में बहुत कम बारिश हुई है। यानी ढाई माह से इन तहसीलों में सूखे जैसे हालात बन गए। जबकि पिछले एक सप्ताह से तेज बारिश से फसलों को नुकसान हुआ। असमय बारिश से फसलों की बढ़वार नहीं हुई है। इस क्षेत्र में मक्का, कपास, मिर्च, सोयाबीन पर असर हुआ है। जिले में एक सप्ताह से तेज बौछारें हो रही हैं। इनसे 200 मिमी बारिश दर्ज हो गई। खरगोन तहसील में रविवार तक 522.3 मिमी जबकि औसत बारिश 747.6 मिमी है। गत वर्ष अब तक 677.3 मिमी बारिश हो चुकी थी। जिले में भी अब तक 469 मिमी बारिश हुई। जिले की औसत वर्षा 825.2 मिमी है।

पटवारियों से 15 अगस्त को मांगी थी सूखे के हालात पर जानकारी
15 अगस्त को भी एक आदेश जारी किया गया था। जिसमें पटवारियों से सूखे की स्थिति की जानकारी मांगी गई थी। लेकिन अब इस जानकारी में अन्य विभागों को भी शामिल किया गया है। लेकिन अब अब राजस्व विभाग के साथ-साथ कृषि व उद्यानिकी विभाग का अमला भी संयुक्त रूप से अल्पवर्षा या अवर्षा की जानकारी निर्धारित प्रारूप में तैयार कर एसडीएम को रिपोर्ट देगा। वर्षा की स्थिति व फसलों का आकलन व क्षति की जानकारी शासन स्तर पर भेजी जाएगी।

खबरें और भी हैं...